यूक्रेन पर आक्रमण को लेकर यूरोपीय संघ ने रूस के खिलाफ और अधिक प्रतिबंध लगाये

ब्रसेल्स : यूरोपीय संघ (ईयू) ने यूक्रेन पर आक्रमण को लेकर बृस्पतिवार को रूस पर और अधिक प्रतिबंध लगा दिए। ईयू के सदस्य देशों ने रूस पर विभिन्न प्रकार के प्रतिबंध लगाये हैं, जिनमें सोने के आयात और उच्च तकनीक वाली कुछ वस्तुओं के निर्यात नियंत्रण को कठोर बनाना शामिल है। यूरोपीय आयोग की अध्यक्ष उर्सुला वॉन डेर लेन ने कहा‘‘क्रेमलिन के खिलाफ प्रबल एवं दीर्घकालिक प्रतिबंध’ मास्को को एक मजबूत संकेत भेजते हैं कि हम अधिक से अधिक समय तक अपना दबाव बनाये रहेंगे। 

हालांकि प्रतिबंधों का ब्योरा अभी अस्पष्ट है, क्योंकि इनके बारे में ईयू की आधिकारिक पत्रिका में कुछ लिखा नहीं गया है। यूरोपीय संघ के अधिकारी रूस पर प्रतिबंधों के व्यापक पैकेज को कड़ा करने के लिए एक सप्ताह से मांग रहे हैं और इस उम्मीद में सोने के निर्यात पर प्रतिबंध लगाने के तरीकों की तलाश कर रहे हैं कि इन उपायों से अंततः यूक्रेन में युद्ध पर निर्णायक प्रभाव पड़ेगा।

यूरोपीय संघ के विदेश मामलों के प्रमुख जोसेप बोरेल ने सोमवार को कहा कि इस समय ‘सबसे महत्वपूर्ण बात रूसी सोने पर प्रतिबंध है,’जो ऊर्जा के बाद मॉस्को का दूसरा सबसे बड़ा निर्यात उद्योग है। सात प्रमुख औद्योगिक देशों के समूह पिछले महीने से ही रूसी सोने पर प्रतिबंध लगाने को लेकर प्रतिबद्ध थे और इन्होंने तर्क दिया था कि रूस ने अपने सोने का इस्तेमाल कई दौर के प्रतिबंधों के कारण पड़ने वाले प्रभावों से अपनी मुद्रा को बचाने के लिए किया है, प्रतिबंधात्मक उपायों के अलावा, यूरोपीय संघ ने यूक्रेन को सैन्य सहयोग बढ़ाने के लिए 500 मिलियन यूरो देने का भी फैसला किया है।