वर्ण पिरामिड

हे

नारी

सृजन

कर्ता है तू

सम्पूर्ण सृष्टि,

दुनिया रचती

फिर भी पिंजरे में।

सहकर पीड़ाएँ

चलती रहती

जीवन राह

सिखाती तू

विजयी

सदा

हो।


गरिमा राकेश 'गर्विता'

कोटा राजस्थान