नाले में गोबर बहाने वालों पर जुर्माना और एफआईआर कराएं: महापौर

सहारनपुर। मेयर संजीव वालिया ने चिलकाना रोड पर नाला सफाई अभियान का निरीक्षण किया। मेयर ने नगर स्वास्थ अधिकारी को निर्देश दिए कि नाली-नालों में गोबर बहाने वालों के खिलाफ जुर्माना लगाने के साथ उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराएं।

बरसात में शहर में जलभराव न हो इसके लिए नगर निगम द्वारा युद्ध स्तर पर महानगर में नालों की सफाई का अभियान चलाया जा रहा है। शनिवार की सुबह मेयर संजीव वालिया औचक निरीक्षण के लिए चिलकाना रोड पहुंचे और नालों की सफाई का निरीक्षण किया। इस दौरान उनके साथ भाजपा महानगर अध्यक्ष राकेश जैन, पार्षद मनोज जैन, मान सिंह जैन, भूरासिंह प्रजापति व शहजाद मलिक भी रहे।

क्षेत्र के लोगों और पार्षदों ने मेयर को बताया कि मंडी समिति की दिशा से आने वाले तीन नालों का पानी मुन्नालाल कॉलेज से सट कर बह रहे नाले में आता है। जहंा यह नाले क्रॉस करते है वहां पानी रुक जाता है जिसके कारण नालों की बार बार सफाई के बावजूद नालों में रह-रहकर कचरा आता रहता है। इसके अलावा कईं स्थानों पर नाले पर बनी पुलियाओं की डाट भी कचरा जमा होने का कारण बन रही है। पार्षदों व सफाई कर्मियों ने बताया कि आस पास स्थित पशु डेरियों से भी नाले में गोबर बहकर आता है। जिसके कारण नाला, सफाई के तीन दिन बाद पुनः उसी स्थिति में लौट आता है। मुख्य सफाई निरीक्षक इंद्रपाल सिंह ने भी नालों की स्थिति के बारे में जानकारी दी। 

इस पर मेयर संजीव वालिया ने नगर स्वास्थय अधिकारी डॉ.कुनाल जैन को निर्देश दिए कि नाली-नालों में गोबर बहाने वालों के खिलाफ जुर्माना लगाने के साथ ही उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराएं। उन्होंने कहा कि ये लोग केवल नोटिस या छोटे-मोटे जुर्माने से मानने वाले नहीं है,इन पर भारी जुर्माना लगाया जाए। उन्होंने कहा कि नालों में कूड़ा कचरा जमा होने की स्थिति केवल यहां ही नहीं महानगर में कई स्थानों पर है। यदि महानगर को जलभराव से बचाना है तो इनकी सफाई को गंभीरता से लेना होगा।