उदयपुर में दिनदहाड़े हिन्दू युवक की नशृंस हत्या किए जाने से बजरंग दल आर्यमगढ़ में उबाल

आजमगढ़। राजस्थान प्रांत के उदयपुर में दिनदहाड़े हिन्दू युवक की नशृंस हत्या किए जाने से बजरंग दल आर्यमगढ़ में उबाल व्याप्त है। गुरूवार को आक्रोशित बजरंग दल ने गहलोत सरकार को बर्खास्त किए जाने सहित पांच सूत्री मांग पत्र डीएम के माध्यम से राष्ट्रपति को भेजा गया। जिला संयोजक शशांक तिवारी ने कहाकि उदयपुर में बेखौफ जिहादियों द्वारा कन्हैया लाल के दुकान में घुसकर उनकी गला रेत कर हत्या करते हुए न सिर्फ वीडियो जारी किया गया बल्कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को धमकी देकर देश की संम्प्रभुता को भी खुली चुनौती दी है इस प्रकार की घटना से सम्पूर्ण राष्ट्र का हिन्दू समाज आहत हुआ है। 

श्री तिवारी ने कहाकि गहलौत के नेतृत्व वाली राजस्थान सरकार हिन्दू समाज के लिए आंतक का पर्याय बन चुकी है इसलिए अविलम्ब राष्ट्रपति शासन लगवाकर राजस्थान सरकार को बर्खास्त किया जाए। बजरंग दल की पांच सूत्री मांगों में राजस्थान की गहलोत सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगाया जाए, बंधु कन्हैया लाल हत्याकांड की सीबीआई जांच कराकर हत्यारों को मृत्युदंड दिया जाए, आंतकवादी संगठन सिमी का अवतार कट्टरवारी इस्लामिक संगठन पापुलर फ्रंट आफ इंडिया को सम्पूर्ण देश में प्रतिबंधित किया जाए, राजस्थान में रहने वाले राष्ट्र विरोधी असामाजिक तत्वों की पहचान कर उन सब पर कानूनी कार्यवाही की जाए व मृतक के परिजनों को पांच करोड़ रूपए मुआवजा राशि देने का आदेश जारी किया जाए शामिल रहा। 

इस अवसर पर विभाग अध्यक्ष अशोक अग्रवाल, विभाग संयोजक कुंवर गजेन्द्र, जिलामंत्री गौरव रघुवंशी, संतोष गुप्ता, प्रशांत सिंह, उत्कर्ष राजन गुप्ता, अरविन्द अग्रवाल, अरविन्द मोदनवाल, हिमांशु राज, मुनीब गुप्ता, गिरीश पांडेय,सूरज निषाद, अभि निषाद, किशन, मकरघ्वज यादव,शंकर यादव,सुरेश यादव,प्रदीप सिंह, सूरज पांडेय,सुधाकर वर्मा, संजीव, श्याम, पंकज शर्मा, गौरव पाडेय, गौतम राघवेन्द्र मिश्र लड्डू, अंकु गुप्ता, मुनीब गुप्ता, मृत्युजंय, मोहित,विशाल, विमल निषाद, उदय, अनिरूद्ध हरिओम आदि मौजूद रहे।