जमीन विवाद में आदिवासी महिला को जलाने की घटना पर गुना प्रशासन को एनसीएसटी का नोटिस

नयी दिल्ली : राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग (एनसीएसटी) ने मध्य प्रदेश में गुना के जिलाधिकारी को नोटिस जारी कर भूमि विवाद के चलते एक आदिवासी महिला को कथित तौर पर आग लगाए जाने की घटना के बाद की गई कार्रवाई का ब्योरा मांगा है। रिपोर्ट के अनुसार, सहरिया आदिवासी समुदाय से संबंधित 38 वर्षीय महिला और उसके पति ने स्थानीय पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराई थी कि उनकी जान को खतरा है। उन्होंने आरोप लगाया था कि कुछ शक्तिशाली लोग धनोरिया गांव में उनकी जमीन हड़पना चाहते हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि उनके गांव के तीन पुरुषों ने शनिवार को महिला पर डीजल डालकर उसे आग लगा दी। महिला 80 प्रतिशत तक चल गई है और भोपाल के एक अस्पताल में उसका उपचार चल रहा है। एनसीएसटी ने घटना का स्वतरू संज्ञान लेते हुए सोमवार को गुना जिलाधिकारी को नोटिस जारी किया और सात दिन के भीतर मामले में विस्तृत जानकारी देने को कहा। उसने भारतीय दंड संहिता और अनुसूचित जाति एवं जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम, 1989 के प्रासंगिक प्रावधानों के तहत आरोप पत्र दाखिल करने और आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए की गई कार्रवाई पर जानकारी मांगी। आयोग ने यह भी जानकारी मांगी कि पीड़ित परिवार को क्या कोई आर्थिक राहत दी गई है।