देश में खाद्य तेलों की कीमतों में आ सकती है गिरावट, सरकार की ओर से कवायद शुरू

 नई दिल्ली : देश में खाने का तेल सस्ता होने की उम्मीदें बढ़ गई है। खाद्य तेलों की कीमतों को नियंत्रण में रखने के लिए अब सरकार की ओर से कवायद शुरू कर दी गई है। उम्मीद है कि सरकार के इस कवायद के बाद खाने का तेल सस्ता हो सकता है। इस संबंध में खाद्य सचिव ने बुधवार को खाद्य तेल कंपनियों और तेल आयातकों के साथ बैठक बुलाई है। 

माना जा रहा है कि सरकार इस बैठक में खाद्य तेल के कारोबार से जुड़ी कंपनियों को खाद्य तेलों की कीमतें घटाने के लिए कह सकती है। सरकार की ओर से इस बैठक में शामिल होने के लिए खाद्य तेलों के आयातक और उत्पादक दोनों की तरह की कंपनियों को कहा गया है। सूत्रों के अनुसार बुधवार को होने वाली बैठक में देश में खाद्य तेलों की कीमतों की समीक्षा की जाएगी। 

आपको बता दें कि हाल के दिनों में अंतरराष्ट्रीय बाजार में खाने के तेलों की कीमतों में अच्छी-खासी गिरावट देखने को मिली है। इसके बावजूद, देश में खाद्य तेलों की कीमतों में तेजी बनी हुई है। इसी को देखते हुए सरकार की ओर से पहल कर खाद्य तेल के आयतकों और उत्पादकों को बातचीत करने के लिए बुलाया गया है। ऐसे में माना रहा है कि इस बैठक के बाद आने वाले कुछ समय में देश में खाद्य तेलों की कीमतों में नरमी देखने को मिल सकती है। 

गौरतलब है कि पिछले एक महीने में अंतरराष्ट्रीय बाजारों में खाद्य तेलों की कीमतों में 400 डॉलर तक की गिरावट गाई है। कुछ दिनों पहले कंपनियों ने खुद से तेलों की कीमतों में 10 से 15 रुपये की कटौती की थी पर उसे पर्याप्त नहीं माना रहा है। अब आखिरकार सरकार ने इस मामले में दखल देते हुए तेल आयातकों और उत्पादकों से बात करने का मन बनाया है। 

इस बारे में खाद्य सचिव सुधांशु पांडे ने मीडिया से बातचीत में बताया हे कि खाद्य तेल कंपनियों के साथ होने वाली बैठक में सरकार की ओर से कंपनियों को ग्लोबल बाजार में तेल की कीमतों में आई गिरावट का फायदा रिटेल उपभोक्ताओं तक पहुंचाने को कहा जाएगा। उम्मीद है कि सरकार के इस फैसले के बाद देश में खाद्य तेलों की कीमतों में नरमी देखने को मिलेगी। महंगाई से बेहाल जनता के लिए यह एक बड़ी राहत होगी।