ब्रेंडन मैक्कुलम के भरोसे की वजह से चमके जॉनी बेयरस्टो

शानदार लय में चल रहे इंग्लैंड के बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो ने भारत के खिलाफ पांचवें टेस्ट की दोनों पारियों के अलावा पिछली पांच पारियों में अपने बड़े स्कोर का श्रेय कोविड-19 प्रोटोकॉल से मुक्ति और नये मुख्य कोच ब्रैंडन मैकुलम की देखरेख में अपनी भूमिका की स्पष्टता को दिया है। बेयरस्टो ने भारत के खिलाफ पांचवें टेस्ट मैच में 106 और नाबाद 114 रन की पारी खेल कर मंगलवार को इंग्लैंड सात विकेट से यादगार जीत दिलाई थी। उन्होंने इससे पहले न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैचों की टेस्ट श्रृंखला में  1, 16, 8, 136, 162 और नाबाद 71 रन बनाये थे। इस श्रृंखला को इंग्लैंड ने 3-0 से जीता था।

बेयरस्टो ने 'टेलेंडर्स पॉडकास्ट' कहा, 'यह उस आजादी का नतीजा है जो अब हमारे पास है। हम अब होटल के कमरे और जैव सुरक्षित माहौल में कैद नहीं हैं। हम हर रोज कोरोना वायरस जांच के साथ सामान्य चीजें कर सकते हैं जैसे दुकान पर जाएं, बीयर के लिए जाएं, अपने दोस्तों और परिवार से मिलें।'

उन्होंने कहा, 'इन सभी चीजों के एक साथ होने से फायदा हुआ। यह जाहिर तौर पर बाज (मैकुलम) के साथ काम करने का उत्साह भी है क्योंकि उन्होंने टीम में सभी को उनकी भूमिकाओं को लेकर स्पष्टता दी है।' मैकुलम के कोच बनने के बाद इंग्लैंड की टीम ने आक्रामक क्रिकेट खेलते हुए लगातार चार टेस्ट मैचों में जीत हासिल की है। बेयरस्टो सत्र की शुरुआत में काउंटी मैच खेलने से चूक गए थे क्योंकि वह इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में खेल रहे थे। लेकिन मैकुलम ने उनसे कहा कि इससे टेस्ट टीम में उनकी जगह पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

बेयरस्टो ने कहा, 'उनसे न्यूजीलैंड श्रृंखला से पहले आईपीएल में जाने और काउंटी क्रिकेट नहीं खेलने के बारे में बातचीत हुई थी, लेकिन बाज ने मुझे फोन किया और कहा कि मैं टेस्ट में पांचवें क्रम पर बल्लेबाजी करूंगा।'

इंग्लैंड के अनुभवी तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने कहा कि विराट कोहली की छींटाकशी ने बेयरस्टो को भारत के खिलाफ पहली पारी में शतक लगाने के लिए प्रेरित किया। एंडरसन ने कहा, 'विराट की छींटाकशी से पहले बेयरस्टो का स्ट्राइक रेट 20 के आसपास था और इस घटना के बाद उन्होंने 150 की स्ट्राइक रेट से रन बनाये।'