टीवी एंकर रोहित रंजन की गिरफ्तारी के लिये रायपुर पुलिस की छापेमारी

नोएडा : कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान को तोड़-मरोड़ कर गलत संदर्भ में प्रस्तुत करने के मामले में बृहस्पतिवार को छत्तीसगढ़ पुलिस ने जी न्यूज के समाचार एंकर रोहित रंजन की गिरफ्तारी के लिए नोएडा, गाजियाबाद सहित विभिन्न ठिकानों पर छापेमारी की। छत्तीसगढ़ पुलिस आज भी नोएडा में रुकी हुई है। छत्तीसगढ़ पुलिस के एसपी उदयन बेहार ने बताया कि रंजन के खिलाफ रायपुर के थाना सिविल लाइन में धारा 153 (क) 295 (क) 504, 505(1)(ख) (ग), 120बी, 467, 468, 471, में मुकदमा दर्ज है।

 उनकी गिरफ्तारी के लिए रायपुर की अदालत से वारंट जारी है। बेहार ने बताया कि आज एंकर की गिरफ्तारी के लिए विभिन्न जगहों पर छापेमारी की गई है। उन्होंने बताया कि बुधवार दोपहर एक बजे तक नोएडा पुलिस ने उन्हें रोहित रंजन की गिरफ्तारी और रिहाई की जानकारी नहीं दी है, जबकि स्थानीय पुलिस को पता है कि इस मामले में छत्तीसगढ़ पुलिस के पास उनकी गिरफ्तारी के लिए अदालत का वारंट है। 

उन्होंने बताया कि नोएडा पुलिस के अनुसार रोहित रंजन को मंगलवार को गिरफ्तारी के बाद जमानत पर रिहा कर दिया गया। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ पुलिस नोटिस लेकर आई है, जिसमें थाना सेक्टर-20 पुलिस से कहा गया है कि रंजन की गिरफ्तारी और रिहाई संबधित जानकारी उन्हें दें। उन्होंने दावा किया कि रंजन की गिरफ्तारी और रिहाई से संबंधित जानकारी लेने के लिए रायपुर पुलिस थाना सेक्टर-20 आई लेकिन यहां संबंधित विभाग का कोई अधिकारी मौजूद नहीं है।

 छत्तीसगढ़ पुलिस ने कार्रवाई में सहयोग न करने और कानूनी प्रक्रिया में बाधा डालने का आरोप भी लगाया है। केरल के वायनाड स्थित कांग्रेस नेता के दफ्तर में की गई तोड़फोड़ के मामले में गांधी द्वारा दिए गए बयान को तोड़ मरोड़ कर जी न्यूज ने गलत संदर्भ में राजस्थान के उदयपुर की घटना से जोड़ दिया था।

 इस बाबत छत्तीसगढ़ में कांग्रेस विधायक देवेंद्र यादव की शिकायत पर विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज है। वहां की पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। वहीं जी न्यूज की तरफ से थाना सेक्टर- 20 में जी न्यूज के सीनियर प्रोड्यूसर और प्रशिक्षु प्रोड्यूसर के खिलाफ मंगलवार को मुकदमा दर्ज करवाया गया था। इसी मामले की जांच में नोएडा पुलिस ने चौनल के एंकर रोहित रंजन को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया था।