प्रत्येक व्यापारी आदर्श नागरिक व दानवीर बने: शीतल टण्डन

सहारनपुर। देश की आजादी के अमृत महोत्सव वर्ष में उ.प्र.उद्योग व्यापार मंडल की जिला इकाई के तत्वावधान में दानवीर भामाशाह जयंती के अवसर पर स्थानीय गांधी पार्क स्थित प्रभु जी की रसोई के प्रांगण में एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर जरूरतमंदों को व्यापार मण्डल की ओर से निःशुल्क भोजन वितरित किया गया। 

कार्यक्रम में व्यापार मण्डल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व जिलाध्यक्ष शीतल टण्डन व जिला महामंत्री रमेश अरोड़ा ने संयुक्त रूप से कहा कि मेवाड राजस्थान की पावन भूमि पर 28 जून सन 1567 को जन्मे भामाशाह भारत भूमि पर ही नहीं अपितु विश्व भर में अपने राष्ट्रप्रेम व अतुल्य त्याग के लिए सदैव याद किये जाते रहेंगे। उन्होने कहा कि मुगल काल में हिन्दू राजाओं पर विजय प्राप्त करने की कूटनीति के अंतर्गत एक-एक करके राजस्थान के चित्तौड़ से लेकर जोधपुर व बीकानेर तक राजपूत राजाओं ने मुगलो की अधीनता स्वीकार करके अपनी राजसत्ता मुगलों के आधीन कर दी थी तब एकमात्र महाराणा प्रताप नहीं झुके थे। 

उन्होंने मुगलों की आधीनता अस्वीकार करके वीर की भांति युद्ध में लड़कर देश के लिए जान न्यौछावर करने की ठानी थी तब तत्कालीन मेवाड़ राज्य के मंत्री महान योद्धा व दानवीर भामाशाह ने अपनी राष्ट्रभक्ति व उदारता का अविस्मरणीय उदाहरण प्रस्तुत करते हुए अपनी समस्त धन सम्पत्ति जिसमें 25 लाख रूपये नगद, 20 हजार सोने की अशरफियां, हीरे-जवाहरात महाराणा प्रताप को देकर पुनः मेवाड प्राप्त किया था और युद्ध में विजय प्राप्त की थी। ऐसे दानवीर भामाशाह की जयंती पर प्रत्येक व्यापारी शत-शत नमन करता है। 

श्री टण्डन ने कहा कि प्रत्येक व्यापारी को दानवीर भामाशाह की तरह राष्ट्रभक्ति व त्याग की भावना तथा व्यापार मण्डल की आचार संहिता का पालन कर एक आदर्श नागरिक बनना होगा। श्री टण्डन ने इस बात पर हर्ष व्यक्त किया गया कि कुछ वर्ष पूर्व राजस्थान सरकार को विशिष्ट लोगों को प्रत्येक वर्ष भामाशाह पुरस्कार दिया जाता है। 

साथ ही राजस्थान में आर्थिक एवं नारी सशक्तिकरण को मजबूत बनाने के लिए भामाशाह योजना को भी सफलतापूर्वक लागू किया गया। उन्होंने इस तरह के पुरस्कार व भामाशाह योजना को उ.प्र. सरकार व समस्त दूसरी राज्य सरकारों तथा केन्द्र सरकार द्वारा भी लागे किये जाने की मांग की। बैठक में व्यापारियों ने तिरंगा पटका पहनकर एकता, सदभावना और सेवा के लिए निरन्तर कार्य करने का संकल्प लिया गया। 

बैठक में प्रमुख रूप से जिलाध्यक्ष शीतल टण्डन, जिला महामंत्री रमेश अरोडा, जिला कोषाध्यक्ष राजीव अग्रवाल, मेजर एस.के.सूरी, कर्नल संजय मिडढा, बलदेव राज खुंगर, अनिल गर्ग, सतीश ठकराल, प्रवीन चादना, भोपाल सिंह सैनी, विकास कश्यप, शिव कुमार व अंकुश कर्णवाल आदि व्यापारी प्रतिनिधि उपस्थित रहे।