हिस्ट्रीशीटर पर आरोपियो ने बोला जानलेवा हमला, रेफर

लालगंज, प्रतापगढ़। कोतवाली के मेढावां गांव मे रंजिशन हिस्ट्रीशीटर और टाप टेन अपराधी की पिटाई को लेकर शुक्रवार को पुलिस हलाकान हो उठी। हालांकि गंभीर रूप से चुटहिल हिस्ट्रीशीटर को स्थानीय ट्रामा सेंटर मे प्रारंभिक इलाज के बाद चिकित्सकों ने जिला मेडिकल कालेज रेफर कर दिया। मेढावां गांव का पंचलाल वर्मा थाने के रिकार्ड मे हिस्ट्रीशीटर है वह कोतवाली के टाप टेन अपराधियो की फेहरिस्त मे भी शामिल है। गुरूवार को देर रात पंचलाल को उसके घर के समीप लाठी डंडे से पीटकर आरोपियो ने गंभीर रूप से चुटहिल कर दिया। 

शुक्रवार की सुबह गंभीर रूप से घायल पंचलाल को परिजन इलाज के लिए ट्रामा सेंटर ले आये तो अस्पताल प्रशासन ने पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष कमलेश पाल अस्पताल पहुंच गये। पुलिस की देखरेख मे घायल का ट्रामा सेंटर मे प्रारंभिक उपचार हुआ। ज्यादा चोटें देख चिकित्सकों ने उसे प्रतापगढ़ मेडिकल कालेज रेफर कर दिया। घटना को लेकर पुलिस का कहना है कि तहरीर मिलने पर कार्रवाई की जाएगी। 

हालांकि घटना को लेकर घायल पंचलाल की पत्नी संगीता वर्मा ने पुलिस को दी गई तहरीर मे कहा है कि सात जुलाई की रात आठ बजे गांव के सुरेश कोरी पुत्र रामनाथ, अभी पुत्र सुरेश, अम्बिका प्रसाद, रामनरेश सुत रामभरोस उसके घर आये और पंचलाल को जान से मार देने की धमकी देते चले गये। पीडिता ने दी गई तहरीर मे कहा है कि पंचलाल घर के सामने चारपाई पर सोया था। रात करीब बारह बजे वह शौच के लिए घर से निकली तो चारपाई पर पंचलाल को नदारद देखा। 

परिजनो ने रात भर पंचलाल की खोजबीन की किंतु उसका पता नही चल सका। शुक्रवार की सुबह घर के समीप परिजनों ने पंचलाल को खून से लथपथ देखा तो आवाक रह गये। इधर ट्रामा सेण्टर मे पुलिस को दिये गये बयान मे पंचलाल का कहना है कि वह रात मे इलाज के लिए पडोसी जिले रायबरेली चला गया था। पंचलाल के बयान और उसकी पत्नी की तहरीर को लेकर पुलिस गुत्थी सुलझाने मे मशक्कत मे जुटी हुई देखी गयी। 

हिस्ट्रीशीटर होने के कारण पंचलाल पुलिस की पहुंच से दूर रहने के लिए बाहर रहा करता था। वह लुक छिपकर बीच बीच में घर आया जाया करता था। वहीं गांव मे चर्चा के मुताबिक हाल ही मे पंचलाल का रूपये के लेनदेन को लेकर कुछ लोगों से विवाद भी हुआ था। पुलिस भी दबी जुबान से विवाद की वजह नशाखोरी बता रही है। फिलहाल थानाध्यक्ष कमलेश पाल का कहना है कि सभी तथ्यों की जांच की जा रही है, दोषियो के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।