तीखा तीर

देख  हाल  महा  प्रदेश  का 

अन्य   राज   हुये  भयभीत 

निज घर भेदी  फिरें खोजते 

कुर्सी  बचाने  की राजनीति

कमाल कमल करता  भारी 

पड़ता है  हर दल  पर भारी 

     -- वीरेन्द्र तोमर