योगी का खौफः गैंगस्टर ने अपराध से तौबा कर पुलिस के सामने किया आत्मसमर्पण

शामली : भले ही विपक्षी पार्टियां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर आरोप लगा रही हों कि उनका प्रदेश में अपराधियों के बीच कोई खौफ नहीं है लेकिन एसा बिल्कुल भी नहीं है। उत्तर प्रदेश के जनपद शामली में उनके खौफ का सीधा असर देखने को मिला है। यहां गैंगस्टर एक्ट में वांछित चल रहे आरोपी ने कोतवाली में पहुंचकर पुलिस के सामने दोनों हाथ उठाकर आत्मसमर्पण कर दिया। 

आरोपी द्वारा अपराध न करने की तौबा की गई। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर चालान कर दिया। आपको बता दें कि मामला जनपद शामली का है। जहाँ पर शुक्रवार की सुबह करीब 11 बजे कोतवाली के गेट पर एक आरोपी पहुंचा तथा हाथ उठाकर अपराध से तौबा करते हुए आत्मसमर्पण करने की बात कही। पुलिस द्वारा आरोपी से पूछताछ की गई तो आरोपी ने अपना नाम आरिफ पुत्र किताबू निवासी गांव रामडा थाना कैराना बताया।

आरोपी ने बताया कि फरवरी 2021 में सपा विधायक नाहिद हसन के साथ उसके खिलाफ भी गैंगस्टर एक्ट का मुकदमा दर्ज हुआ था। उक्त मामले में वह तभी से वह फरार चल रहा था। करीब एक साल पहले गांव पंजीठ के पास उसकी मोटरसाइकिल में एक गाड़ी ने टक्कर मार दी थी। जिसके बाद उसकी एक टांग टूट गई थी। जिसका वह इलाज करा रहा है। 

लेकिन उसने अपनी मर्जी से खुद कोतवाली में पहुंचकर आत्मसमर्पण किया है। बाद में गैंगस्टर आरिफ कोतवाली प्रभारी अनिल कपरवान के कार्यालय में पहुंचा तथा कोतवाली के सामने अपने दोनों हाथ उठाकर अपराध से तौबा कर आत्मसमर्पण कर दिया।कोतवाली प्रभारी अनिल कपरवान ने बताया कि गैंगस्टर एक्ट के आरोपी ने अपनी मर्जी से कोतवाली में पहुंचकर आत्मसमर्पण किया है। आरोपी को गिरफ्तार कर चालान कर दिया गया।