भूमाफिया यशपाल तोमर पर प्रशासन ने कसा शिकंजा, पांच करोड़ की कीमत की कोठी को किया कुर्क

मेरठ : उत्तर प्रदेश की योगी सरकार माफियाओं पर कहर बनकर टूट रही है। उनके द्वारा अवैध तरीके से अर्जित की गई चल अचल सम्पतियों को जप्त कर उनकी कमर तोड़ने में जुटी है। इसी क्रम में मेरठ जिले में भूमाफिया यशपाल तोमर पर प्रशासन ने शिकंजा कर दिया है। माफिया द्वारा अवैध तरीके से धन लगाकर  बनाई गई पांच करोड़ की कीमत की कोठी को पुलिस ने कुर्क कर दिया। कार्रवाई के दौरान मौके पर भारी पुलिस बल मौजूद रहा।

 पुलिस सूत्रों ने बताया कि भूमाफिया यशपाल तोमर लोगों पर फर्जी मुकदमे दर्ज कराकर उनकी संपत्ति ले लेता था। ब्रह्मपुरी में थाने में यशपाल तोमर ने पुलिस से सांठगांठ डेढ़ साल पहले दिल्ली के प्रॉपर्टी डीलर गिरधारी लाल और उसके ड्राइवर को गोली मरवा दिया था।  फिर मुकदमा दर्ज कराकर जमीन को हड़प लिया।  गिरधारी लाल का अपने भाई से विवाद चल रहा था। एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने मामले को संज्ञान में लेते हुए जांच कराई तो यशपाल तोमर का नाम सामने निकल कर आया। 

उन्होंने आरोपी समेत दो लोगों पर हत्या का मुकदमा दर्ज कराने का आदेश दिया। उसके आरोपी पर  गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की गई। उन्होंने बताया कि मामले में एसटीएफ ने हरिद्वार में 153 करोड़ की संपत्ति जब्त की है। इसके पहले मेरठ पुलिस ने भी उसकी संपत्ति को जप्त कर चुकी है। एएसपी ने बताया कि जिस किसान ने प्राधिकरण को अपनी जमीन को बेच दी थी। उसके खिलाफ यशपाल तोमर ने फर्जी तरीके से मुकदमा दर्ज करा दिया। उन्होंने बताया कि फिर मुकदमा खत्म कराने के लिए किसानों से मोटी रकम लिया। उस पैसों को उसने अपने करीबियों के खाते में डलवा फिर उसी पैसे से आलीशान कोठी बनाई थी।