शिक्षक विवाद में भाजपा और एबीवीपी आमने-सामने

ब्यूरो , सीतापुर। जनपद सीतापुर में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद सिंधौली इकाई श्री गांधी महाविद्यालय में शुक्रवार को परिक्षा देने आए छात्र के द्वारा शिक्षक के साथ अभद्रता की गई और छात्र द्वारा भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के मंडल अध्यक्ष राज राजेश्वर सिंह उर्फ निक्की व साथी मुन्नन शुक्ला सहित दर्जनों कार्यकर्ताओं ने मिलकर शिक्षक का घेराव किया जब शिक्षक कोतवाली से शिकायत देकर निकल रहे थे तब उनके द्वारा शिक्षक गोपाल सिंह पर जानलेवा हमला किया गया। 

इसके पश्चात कोतवाल आलोक मणि त्रिपाठी ने कोई उचित कार्रवाई नहीं कि है बल्कि शिक्षक गोपाल सिंह पर जबर्दस्ती दबाव बनाया जा रहा है कि राज राजेश्वर सिंह भाजपा का मडल अध्यक्ष हैं इस लिए हम उसपर कार्यवाही नहीं कर सकते हैं इसके बाद शिक्षक के साथ हुई इस अमद्र घटना को लेकर श्री गांधी महाविद्यालय के छात्र आक्रोशित हैं और उन्होंने शनिवार साढ़े दस बजे परिसर से निकालकर राष्ट्रीय राजमार्ग 24 को जामकर विरोध प्रदर्शन दर्ज कराया और राजेश्वर सिंह को संरक्षण देने वाले कोतवाल आलोक मणि त्रिपाठी का पुतला दहन किया गया विरोध दर्ज कराते समय छात्रों और पुलिस में नोंक झोंक भी हुई छात्रों के साथ अभद्रता कि गई। शिक्षक गोपाल सिंह ने बताया कि जिले के एक दर्जन से अधिक महाविद्यालयों में हमारी वार्ता लाप जारी है कुलपति के नाम शाम तक लिखित पत्र पहुंच जाएगा अगर 24 घंटे के अंदर दोषी पर कार्रवाई नहीं हुई तो सीतापुर के सारे शिक्षक परिसर के अंदर परिक्षा का बहिष्कार करेंगे। 

प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य विकाश वर्मा ने बताया कि सिधौली में जो प्रकरण घटा हैं वो निंदनीय हैं। जिला सह संयोजक संदीप लोधी ने कहा कि आज जो छात्रों के साथ हुई घटना बहुत दुखदाई है हम सभी एबीवीपी कार्यकर्ता पूरे जिले में सिधौली कोतवाल आलोक मणि त्रिपाठी का पुतला दहन करने के लिए बाध्य है दोषी भाजपा नेता व छात्र पर सिंधौली प्रशासन जब तक कड़ी कार्रवाई नहीं होगी तब तक हम लोग पूरे प्रदेश में वृहत स्तर पर धरना प्रदर्शन करेंगे। 

और  महमूदाबाद के अमीरगंज में सिधौली कोतवाल का पुतला जलाया जा रहा हैं। ये केवल आगाज है अगर प्रशासन व पार्टी के पदाधिकारि यदि कोई संज्ञान नही लेता तो तैयारी कर ले, हम पूरे जनपद में आंदोलन के माध्यम से विरोध करेंगे जरूरत पड़ी तो हम इस आंदोलन को पूरे प्रान्त में आंदोलन करेंगे। जिसके जिम्मेदार प्रशासन होगा।