प्रदेश में 50.10 लाख गन्ना सदस्यों को अंश प्रमाण-पत्र वितरण कार्यक्रम का मुख्यमंत्री ने किया शुभारम्भ

कलेक्ट्रेट सभागार में जिले 100 अंश धारक गन्ना किसानों को वितरित किया गया अंश प्रमाण-पत्र

जनपद की गन्ना समितियों में है 189305 अंशधारक गन्ना कृषक सदस्य

सभी अंशधारक कृषक सदस्यों के तैयार है अंश प्रमाण-पत्र

बहराइच । उत्तर प्रदेश के लगभग 50.10 लाख गन्ना सदस्यों को अंश प्रमाण-पत्र के वितरण कार्यक्रम का शुभारम्भ प्रदेश के मा. मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा किया गया। अंश प्रमाण-पत्र वितरण कार्यक्रम के शुभारम्भ अवसर पर जनपद बहराइच सहित प्रदेश के 40 जिला मुख्यालयों पर भी मा. मुख्यमंत्री के वर्चुअल कार्यक्रम का सजीव प्रसारण किया गया तथा अंशधारक गन्ना कृषक सदस्यों को अंश प्रमाण-पत्र का वितरण किया गया।

कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी डा. दिनेश चन्द्र की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में मा. मुख्यमंत्री जी के कार्यक्रम का सजीव प्रसारण किया गया तथा मौजूद जनप्रतिनिधियों एम.एल.सी. डॉ. प्रज्ञा त्रिपाठी, विधायक सदर श्रीमती अनुपमा जायसवाल, पयागपुर के सुभाष त्रिपाठी व नानपारा के राम निवार्स वर्मा ने जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक केशव कुमार चौधरी के साथ जनपद की तीनो गन्ना समितियों के 189305 अंश धारक कृषकों के तैयार अंश प्रमाण-पत्रों में से 100 कृषकों को अंश प्रमाण-पत्र वितरित किया गया। उल्लेखनीय है कि प्रदेश मुख्यालय पर आयोजित अंश प्रमाण-पत्र वितरण कार्यक्रम के दौरान मा. मुख्यमंत्री जी द्वारा प्रदेश के 40 जिलों की 168 सहकारी गन्ना विकास समितियों एवं 24 सहकारी चीनी मिल समितियों से आये हुए गन्ना कृषकांे को अंश प्रमाण-पत्र का वितरण किया गया।

कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित कार्यक्रम के दौरान वक्ताओं ने कहा कि सहकारी गन्ना विकास समितियॉ कृषकों की संस्थाए है तथा अंश धारक गन्ना कृषकांे को अंश प्रमाण-पत्र वितरण किये जाने का निर्णय प्रदेश के इतिहास में पहली बार लिया गया है। सहकारी चीनी मिल समितियों की कार्यप्रणाली को पूर्ण पारदर्शी, जवाब देय बनाने एवं कृषक सदस्यों को स्वामित्व का पूर्ण एहसास कराने के उद्देश्य से अंश प्रमाण-पत्र जारी किये जा रहे है। अंश प्रमाण-पत्र प्राप्त होने पर गन्ना कृषकांे का गन्ना समितियों/चीनी मिल समितियों की वित्तीय प्रणाली पर विश्वास दृढ़ होगा इससे सभी हित धारक पक्षों को सहकारी गन्ना विकास समितियों के सुदृढ़ीकरण हेतु प्रेरणा प्राप्त होगी।

इस अवसर पर जिला गन्ना अधिकारी शैलेश कुमार मौर्य, सचिव गन्ना समिति बहराइच राजेश कुमार वर्मा, जरवल रोड के दीपक वर्मा, ज्येष्ठ गन्ना विकास निरीक्षक चिलवरिया लाल चन्द्र उपध्याय व नानपारा के मनोज कुमार उपाध्याय, प्रधान प्रबन्धक सहाकरी चीनी मिल नानपारा शेर बहादुर सिंह यादव, अपर महा गन्ना प्रबन्धक चीनी मिल पारले जगतार सिंह, मुख्य महा प्रबन्धक चीनी मिल जरवलरोड टी.एस. राणा, जिला कृषि अधिकारी सतीश कुमार पाण्डेय, पी.ओ. डूडा संजय सिंह, प्रगतिशील कृषक राम सुन्दर पाण्डेय, शशांक सिंह, सरदार सिंह, बब्बन सिंह, विनोद सिंह, दिनेश प्रताप सिंह, भूपेन्द्र सिंह, ओपेन्द्र सिंह, संतोष त्रिपाठी, कृष्ण कुमार शुक्ला, मुन्ना सिंह, देवी बक्श सिंह, सुग्रीव यादव, अशोक सिंह, सुनीता देवी, हरमीत कौर, हरजीत कौर, अर्चना माधुरी, नुजहद परवीन, मधुरी देवी एवं गन्ना विभाग के समस्त कर्मचारी उपस्थित उपस्थित रहे।