India vs England: इंग्लैंड में इस मैच को जीतकर वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के लिए अपना दावा मजबूत करना चाहेगी टीम इंडिया

भारतीय टेस्ट टीम फिलहाल इंग्लैंड के दौरे पर है। बर्मिंघम में टीम इंडिया को इंग्लैंड के खिलाफ एकमात्र टेस्ट खेलना है। इसकी शुरुआत एक जुलाई से होगी। यह मैच पिछले साल हुई पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का हिस्सा है। तब एक मैच को कोरोना की वजह से रद्द कर दिया गया था और बाद में कराने का फैसला लिया गया था। उसी मैच को अब कराने का फैसला लिया गया है। टीम इंडिया पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में फिलहाल 2-1 से आगे है और इस मैच को जीतकर वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के लिए अपना दावा मजबूत करना चाहेगी।

टीम इंडिया को इस टेस्ट में जीत दिलाने की जिम्मेदारी कप्तान रोहित शर्मा पर होगी। पिछले साल अगस्त में जब इस टेस्ट सीरीज की शुरुआत हुई थी तो कप्तान रोहित नहीं बल्कि विराट कोहली थे, लेकिन पिछले एक साल में टीम इंडिया में काफी बदलाव आए हैं और अब कप्तान रोहित हैं। ऐसे में रोहित पर टीम इंडिया को कामयाबी दिलाने का दबाव होगा। हालांकि, रोहित को बड़े मैच का प्लेयर माना जाता है और वह अहम मुकाबलों में बड़ी पारी खेलने के लिए जाने जाते हैं।

इतना ही नहीं रोहित का इंग्लैंड के खिलाफ रिकॉर्ड भी शानदार रहा है। पिछले साल ही उन्होंने ओवल टेस्ट (चौथे टेस्ट) में जेम्स एंडरसन, ओली रॉबिन्सन, क्रिस वोक्स, क्रेग ओवरटन जैसे गेंदबाजों की जमकर धुनाई की थी और शानदार शतक लगाया था। इस पारी को इंग्लैंड के गेंदबाज भूल नहीं पाए होंगे। हालांकि, उस सीरीज में स्टोक्स नहीं खेल रहे थे, क्योंकि तब उन्होंने अनिश्चितकालीन ब्रेक ले रखा था। तब जो रूट टीम के कप्तान थे, लेकिन अब स्टोक्स यह दारोमदार संभाल रहे हैं और उन पर रोहित के बल्ले पर अंकुश लगाना मुश्किल होगा।

रोहित ने इंग्लैंड के खिलाफ अपना पहला टेस्ट मैच 2014 में खेला था। यह मुकाबला साउथैम्पटन के मैदान पर खेला गया था। हालांकि, तब वह ज्यादा रन नहीं बना पाए थे और दोनों पारियों को मिलाकर 28 रन ही बना सके थे। हालांकि, इसके बाद उन्होंने इस टीम के खिलाफ रिकॉर्ड सुधारना शुरू किया। रोहित के बल्ले से इंग्लैंड के खिलाफ पहला शतक फरवरी 2021 में निकला। तब चेन्नई टेस्ट की पहली पारी में रोहित ने ओपनिंग करते हुए 161 रन की पारी खेली थी। 231 गेंदों की अपनी पारी में रोहित ने 18 चौके और दो छक्के जड़े। टीम इंडिया ने इस मैच में इंग्लैंड को 317 रन से हराया था।

इसके बाद रोहित जब टीम इंडिया के साथ पिछले साल इंग्लैंड दौरे पर गए तब भी उन्होंने अपनी उपयोगित साबित की। उन्होंने ओवल टेस्ट की पहली पारी में सिर्फ 11 रन बनाए। हालांकि, दूसरी पारी में उनके बल्ले से खूब रन निकले। दूसरी पारी में हिटमैन ने 256 गेंदों में 127 रन की पारी खेली थी। इसमें 14 चौके और एक छक्का शामिल है। टीम इंडिया ने यह मैच 157 रन से जीता था। रोहित इस टेस्ट प्लेयर ऑफ द मैच भी चुने गए।

रोहित फिलहाल इंग्लैंड के खिलाफ इस सीरीज में जो रूट के बाद दूसरा सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। रूट ने अब तक इस सीरीज में चार टेस्ट की सात पारियों में 94.00 की औसत से 564 रन बनाए हैं। इसमें तीन शतक और एक अर्धशतक शामिल है। वहीं, रोहित चार मैच की आठ पारियों में 52.57 की औसत से 368 रन बना चुके हैं। इसमें एक शतक और दो अर्धशतक शामिल है। इस सीरीज में टॉप पांच रन बनाने वाले बल्लेबाजों में रूट को छोड़कर बाकी चार बल्लेबाज भारत के हैं।

रोहित के अलावा इस लिस्ट में तीसरे नंबर पर केएल राहुल, चौथे नंबर पर चेतेश्वर पुजारा और पांचवें स्थान पर विराट कोहली हैं। इंग्लैंड के खिलाफ रोहित के ओवरऑल रिकॉर्ड की बात करें तो उन्होंने नौ टेस्ट में 49.80 की औसत से 747 रन बनाए हैं। इसमें दो शतक शामिल है। इसके अलावा रोहित ने इंग्लैंड के खिलाफ एक विकेट भी लिया है।

रोहित ने जहां पर इस सीरीज को छोड़ा था, फैन्स को उम्मीद होगी कि वहीं से वह सीरीज को जारी रखेंगे। फैन्स उम्मीद कर रहे हैं कि रोहित इस मैच में भी शतक लगाएंगे और टीम इंडिया को ऐतिहासिक जीत दिलाने में कामयाब होंगे। रोहित ने जब भी इंग्लैंड के खिलाफ शतक लगाया है, टीम इंडिया ने उस मैच में जीत हासिल की है। फैन्स इस बार भी कुछ वैसी ही उम्मीद लगाकर बैठे होंगे।