IND vs SA: भारतीय टीम की जीत में हार्दिक और दिनेश ने निभाई अहम भूमिका, पांड्या को याद आई धोनी की सीख

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच पांच टी20 मैचों की सीरीज का चौथा मुकाबला राजकोट में शुक्रवार (17 जून) को खेला गया। टीम इंडिया ने मैच को 82 रनों से अपने नाम कर लिया। इस जीत के साथ ही उसने सीरीज को 2-2 की बराबरी पर ला दिया। भारतीय टीम की जीत में हार्दिक पांड्या और दिनेश कार्तिक ने अहम भूमिका निभाई। मैच के बाद दोनों खिलाड़ियों ने बीसीसीआई टीवी के लिए एक-दूसरे का इंटरव्यू किया।

हार्दिक ने इस दौरान बताया कि कैसे उन्होंने गुजरात टाइटंस को अपनी कप्तानी में चैंपियन बनाया। उन्हें कप्तानी में किसकी सलाह सबसे ज्यादा काम आई। हार्दिक ने कहा, ''मैं हमेशा माही भाई (महेंद्र सिंह धोनी) से सलाह लेता हूं। वह शांत होकर रणनीति बनाते हैं और टीम को निखारते हैं। करियर के शुरुआत में ही उन्होंने मुझसे कहा था कि टीम के स्कोर के बारे में कभी मत सोचो। यह सोचो कि टीम को किस चीज जरूरत है। मैं उसी चीज का पालन कर रहा हूं।''

इसके बाद हार्दिक से कार्तिक ने पूछा कि गुजरात और भारतीय टीम के लिए खेलते हुए उन्होंने योजना में क्या बदलाव किया। इस पर हार्दिक ने कहा, ''मैं अपने खेल में ज्यादा बदलाव नहीं करता हूं। अपनी टाइमिंग को सही रखता हूं और जोन में आने वाली गेंद को मारने का प्रयास करता हूं।" 

बातचीत के दौरान हार्दिक ने कार्तिक की तारीफ भी की। उन्होंने कहा, ''मैं आपको यह कहना चाहता हूं कि आप हमारे जैसे कई खिलाड़ियों के लिए प्रेरणास्त्रोत हैं। मुझे याद है कि आपने अपनी योजना के बारे में मुझसे क्या कहा था। आप टीम में नहीं थे और कई लोग आपको भविष्य में टीम में देख भी नहीं रहे थे। मुझे वो बातचीत याद है, जब आपने मुझसे कहा था कि मेरा लक्ष्य भारत के लिए फिर से खेलना है और वर्ल्ड कप टीम में जगह बनाना है। मैं इसके लिए अपना सब कुछ देने जा रहा हूं और आपको इसे हासिल करते हुए देखना बहुत प्रेरणादायक है। बहुत से लोग नई चीजें सीखने जा रहे हैं। आप पर बहुत गर्व है।"

दूसरी ओर, दिनेश कार्तिक ने कहा, ''मैं इस टीम में काफी सुरक्षित महसूस कर रहा हूं। पिछले मैच में सबकुछ योजना के अनुरूप नहीं हुआ था, लेकिन आज मैं गया और बेहतर खेला। इसका श्रेय राहुल द्रविड़ को जाता है। उनके रहते हुए टीम में शांति रहती है। ड्रेसिंग रूम शांत रहता हूै। यह दबाव को झेलने के लिए जरूरी है। टीम में सबकुछ साफ है और इससे सुरक्षा का वातावरण बनता है।''