चौधरी डेरा में कृषक जागरूकता गोष्ठी का आयोजन

बांदा। जागरूकता कृषक गोष्ठी का आयोजन चौधरी डेरा पैलानी में किया गया। भारत सरकार की योजना जलवायु अनुकूल कृषि पर राष्ट्रीय पहल के अंतर्गत तिंदवारी विकासखंड के ग्राम चौधरी डेरा खपटिहा कला का चयन कृषि विज्ञान केंद्र बांदा द्वारा अंगीत किया गया है। बांदा कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय बांदा के अंतर्गत संचालित इस कृषि विज्ञान केंद्र द्वारा इस गांव में कृषि पशुपालन एवं मानव जीवन पर जलवायु परिवर्तन के दुष्प्रभावों को कम करने की वैज्ञानिक जानकारियां लोगों को प्रदान कर जागरूकता करने का काम किया गया जिस का संचालन बांदा कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के डॉ मानवेंद्र सिंह ने किया।

कृषको को जानकारी देते हुए बताया कि जिस दिन गाय खत्म हो जाएगी तो गाय का गोबर सौ रुपए किलो बिकेगा। गाय के गोबर से कैंसर तक की बीमारियां खत्म होती हैं। बीमारी के उपाय नियोजन के बारे में भी जानकारी दी गई। खप्टिहाकला के चौधरी डेरा में किसानों को मूंग का बीज, चूजे, दवाइयां, रसोई संबंधित किट लोगों में बांटी गई। यह योजना 5 साल तक चलेगी कहा कि समूह के साथ कृषि का लाभ लीजिए। 

यहां सूखे के दौरान बार-बार इस गांव को निश्चित किया गया है और जलवायु के अनुसार यहां किसानों को बीज उपलब्ध कराया जाएगा। कार्यक्रम में डा. श्याम सिंह, डॉ मानवेंद्र सिंह, डा. नरेंद्र सिंह, डा.एनके बाजपेई निदेशक एवं प्रसार का उद्बोधन किया। ग्राम प्रधान मैना देवी, भाजपा नेता बलराम सिंह कछवाहआदि लोग उपस्थित रहे।