डेढ़ माह से कस्बे की जलापूर्ति ठप लोग बूंद-बूंद को तरसे लोग

बांदा/कमासिन। जल जीवन मिशन योजना के अंतर्गत कस्बे में डाली जा रही पाइपलाइन के कारणहो रही खुदाई से पुरानी पाइप लाइन जगह जगह से तोड़ दी गई है जिससे डेढ़ माह से पेयजल व्यवस्था पूर्णतया ठप है।इससे लोग बूंद बूंद पानी को तरस रहे हैं। साथ ही जहां हैंडपंपों पर भारी भीड़ जमा रहती है वही प्रदूषित व खारा पानी पीने को भी लोग विवश हो रहे हैं। 15 हजार से अधिक आबादी वाले कस्बे में कई वर्षों से जल संस्थान द्वारा पेयजल की आपूर्ति की जा रही थी।

 अभी तक व्यवस्था काफी चुस्त दुरुस्त रहती थी लेकिन हर घर नल व जल योजना के तहत कस्बे में एलएनटी कंपनी द्वारा पाइप लाइन डालने का काम किया जा रहा है जिससे खुदाई के दौरान पुरानी पाइप लाइन जगह जगह टूटती जा रही है। जल संस्थान कर्मियों द्वारा अगर एक जगह से पाइप लाइन जोड़ दी गई तो दूसरे दिन दूसरी जगह से पाइपलाइन टूट जाती है। 

अब जल संस्थान कर्मियों ने भी पाइप लाइन जोड़ने में असमर्थता व्यक्त कर दी है क्योंकि करीब 500 मीटर तक पाइपलाइन पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है। अवर अभियंता जल संस्थान कमासिनकौशल किशोर ने बताया कि जल संस्थान कर्मियों द्वारा कई बार तोड़ी गई पाइप लाइन को जोड़ा था लेकिन अगले दिन पुनः पाइपलाइन क्षतिग्रस्त कर दी जाती थी एक आध हफ्ते तोड़ी गई पाइप लाइनों को जोड़ा गया लेकिन जब जलापूर्ति नहीं हो पा रही थी तब थक हार कर कमियों ने पाइप लाइन जोड़ने सेहाथ खड़े कर लिए थे क्योंकि जिस कंपनी कायह करार है कि जो पाइप लाइन तोडेंगे उसे एलएनटी कंपनी ही बनाएगी।