.. तो कहीं आशनाई में त्रिदेव का हो गया कत्ल, आरोपियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा

सई नदी में उतराया शव अमेठी जिले के युवक का निकला

2 लालगंज कोतवाली में मृतक युवक की बिलखती माँ

लालगंज, प्रतापगढ़। सई नदी में रक्तरंजित उतराये युवक के शव की छठवें दिन पहचान होने से पुलिस को फिलहाल थोड़ी राहत मिली है। पुलिस ने मृतक की मां माधुरी की तहरीर पर घटना में एक नामजद समेत तीन के खिलाफ हत्या तथा शव को छिपाये जाने का केस दर्ज किया है। वहीं मृतक युवक की मां की ओर से एक नामजद तथा दो अज्ञात आरोपियो के खिलाफ लालगंज कोतवाली पुलिस को बुधवार को दी गई तहरीर मे बेटे की हत्या का आरोप लगाया गया है। लालगंज कोतवाली के ककरहिया घाट पर दो जून को एक युवक का रक्तरंजित शव उतराया मिला। पुलिस ने युवक के शव का पंचनामा कर पीएम के लिए भेजवा दिया। 

अड़तालिस घण्टे तक शव की पहचान के लिए पुलिस ने मृतक का पीएम नहीं करवाया। इसके बाद भी पहचान न होने पर आखिर मे पुलिस ने जिला मुख्यालय में सई नदी के घाट पर अंतिम संस्कार करा दिया। मंगलवार की देर शाम बेटे की तलाश करते करते मृतक की मां जिले के कोहडौर थाना पहुंची। वहां पुलिस ने अज्ञात शव की फोटो दिखाई तो मां और मृतक का छोटा भाई दहाड़ मारकर रोने लगा। मृतक युवक की पहचान पडोसी जिले अमेठी के थाना रामगंज के मंगरा गांव निवासी त्रिदेव तिवारी उर्फ सनी पुत्र स्व. रामअचल के रूप में हुई।

 हालांकि मृतक त्रिदेव का मूल निवास सुल्तानपुर के हनुमानगंज थाना के दरियापुर गांव मे था। वह मां तथा छोटे भाई त्रिपुरारी उर्फ मनी के साथ ननिहाल मे रहता था। मंगलवार को मृतक युवक की मां माधुरी अपने छोटे बेटे मनी तथा गांव के कुछ लोगों के साथ थाने पहुंची। यहां दहाड़ मारकर रो रही मां ने बताया कि उसके बेटे की गांव के ही कुछ युवकों ने मिलकर हत्या कर दी। माधुरी ने घटना को लेकर पुलिस को दी गई तहरीर मे कहा है कि उसके बेटे त्रिदेव को लेकर मंगरा गांव के मिर्जा का पुरवा निवासी गुडडू उर्फ ध्रुव यादव पुत्र रामशिरोमणि व दो अन्य अज्ञात दो जून को शाम छः बजे घर से लेकर निकले थे। 

मृतक के साथी तो दूसरे दिन घर पहुंच गये किन्तु त्रिदेव अपने घर नही पहुंचा। परेशान परिजनों ने मृतक के दोस्तों से पूछताछ की तो उन लोगों ने बताया कि त्रिदेव को वह लोग प्रतापगढ़ मे ही छोड़ दिये थे। मां ने शंका जताई है कि आरोपी गुडडू व उसके भाई अभिषेक उसके बेटे को बहला-फुसलाकर प्रतापगढ़ ले गये और हत्या कर शव नदी मे फेंक दिया। तहरीर मे मृतक की मां ने यह भी कहा है कि उसके लड़के के फोन पर गुडडू के फोन की चैटिंग मे किसी लड़की से सम्बन्ध के बारे में जानकारी हो गयी थी। 

मां का आरोप है कि आरोपी गुडडू ने इसे लेकर उसके बेटे को पहले भी जानलेवा धमकी दी थी। युवक के शव की पहचान होने के साथ मां की तहरीर के बाद त्रिदेव की हत्या अब आशनाई के बिन्दु की ओर आ पहुंची है। प्रभारी निरीक्षक कमलेश पाल का कहना है कि घटना में केस दर्ज किया गया है। पुलिस अब मृतक युवक के फोन नंबर को सर्विलांस पर लगाया जाएगा और घटना का शीघ्र खुलासा कर आरोपियो के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। वहीं कोतवाली में उस समय लोगों की आंखे भर आयी जब मृतक त्रिदेव की मां माधुरी रोते बिलखते अपने लाडले का अंतिम बार चेहरा भी न देख पाने के सदमे मे दिखी।