आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष हर घर तिरंगा कार्यक्रम के संदर्भ में की गई बैठक

चित्रकूट। जिलाधिकारी शुभ्रान्त कुमार शुक्ल की अध्यक्षता में आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत हर घर तिरंगा कार्यक्रम के संबंध में बैठक जिला कलेक्ट्रेट के सभागार में संपन्न हुई। जिलाधिकारी ने कहा यह भारत सरकार का एक प्रोग्राम है । 

जो स्वतंत्रता की 75 वीं वर्षगांठ के अवसर पर आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम देशभर में गरिमामय रूप से मनाया जा रहा है। उक्त कार्यक्रमों के अंतर्गत दिनांक 11 से 17 अगस्त 2022 के मध्य हर घर तिरंगा कार्यक्रम अनुमोदित किया गया है। इसके अंतर्गत प्रत्येक भारतीय को अपने घर एवं प्रतिष्ठानों पर झंडा फहराने के लिए प्रेरित करना है। 

उन्होंने कहा कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य प्रत्येक नागरिक के मन में राष्ट्रप्रेम की भावना को जागृत करते हुए स्वतंत्रता के प्रतीकों के प्रति सम्मान का भाव उजागर करना है। उन्होंने यह भी कहा कि हर घर तिरंगा कार्यक्रम प्रतीक सरकारी अधिकारी/ कर्मचारी, शिक्षकगण, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों, स्वयं सहायता समूह विभिन्न नागरिक संगठनों आदि के सहयोग से क्रियान्वित किया जाएगा उन्होंने कहा कि वाणिज्यिक एवं व्यवसायिक समूहों एवं संगठनों को उनकी सहभागिता एवं तिरंगा झंडा बनवाने के लिए सीएसआर संसाधनों को उपलब्ध कराने हेतु प्रेरित किया जाए। 

समस्त सरकारी विभागीय वेबसाइट एवं सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अमृत महोत्सव की वेबसाइट पर उपलब्ध तिरंगा का लिंक भी दिया जाए। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत स्तर पर संबंधित विभाग द्वारा जागरूकता सत्र का आयोजन करते हुए ग्राम प्रधानों को शत-शत घरों दुकानों कार्यालयों संस्थानों तथा इत्यादि पर झंडा फहराने हेतु प्रेरित किया जाए। उन्होंने कहा जनपद के समस्त ग्रामीण क्षेत्रों में झंडा वितरण बिक्री हेतु केंद्रों को चिन्हित कर सरकारी राशन की दुकानों को झंडा वितरण एवं बिक्री के रूप में भी प्रयोग किया जाएगा ।

उन्होंने कहा कि झंडा के निर्माण हेतु स्वयं सहायता समूह को सम्मिलित करते हुए झंडा निर्माण समूह का गठन किया जाए एवं उन्होंने कहा कि स्वयं सहायता समूह स्थानीय टेलर तथा आईटीआई व अन्य वोकेशनल प्रशिक्षण केंद्रों के दक्षकारों का चयन दिनांक 5 जून 2022 तक लक्ष्य आवश्यकता के दृष्टिगत पर्याप्त संख्या में झंडों का का निर्माण सुनिश्चित कराया जाए। 

 उन्होंने कहा कि जनपद के समस्त सरकारी, सार्वजनिक क्षेत्र प्रतिष्ठानों, शैक्षणिक संस्थानों, व्यवसाय के ऊपर वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों, गैर सरकारी संगठनों, रेस्टोरेंट, शॉपिंग कांप्लेक्स, टोल प्लाजा, पुलिस चौकी/ थाना, इत्यादि को इस कार्यक्रम में अनिवार्य रूप से झंडा फहराए जाने जाने हैं। उन्होंने यह भी कहा बैनर, पंपलेट, स्टैंडी, हार्डिंग एवं अन्य उपयुक्त माध्यम से स्थानीय भाषा में बोली में कार्यक्रम का प्रचार प्रसार व्यापक भी किया जाएगा।

 उन्होंने यह भी कहा कि परिवहन निगम की समस्त बसों, निजी बसों, ट्रकों एवं अन्य सार्वजनिक परिवहन साधनों तथा सरकारी वाहनों में हर घर तिरंगा कार्यक्रम का संदेश स्टीकर अथवा अन्य माध्यम से भी लगाए जाएंगे एवं टोल प्लाजा, चेकप्वाइंट इत्यादि पर बैनर स्टैंडी आदि भी लगाए जाएंगे।

 जनपद के पंचायत स्तर तक विभिन्न स्तरों पर नोडल अधिकारी के साथ-साथ पर्यवेक्षकों की तैनाती कर विकास खंड एवं ग्राम पंचायतों के स्तर पर की जाए जो इसकी नियमित समीक्षा की किया जाएगा। सभी प्राथमिक स्कूलों में पैरेंट्स  टीचर मीटिंग के माध्यम से कार्यक्रम के संबंध में भी जानकारी दी जाए ।

उन्होंने कहा हर घर तिरंगा कार्यक्रम को वृहद स्तर पर प्रचार प्रसार सूचना विभाग के माध्यम से प्रत्येक जनपद मुख्यालय में एलईडी बैंक के माध्यम से एवं सिनेमाघरों मल्टी फ्लेक्स, केबल नेटवर्क, स्थानी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के माध्यम से वीडियो अपील, रेडियाजिगल के द्वारा भी प्रचार-प्रसार कराया जाए ।

उन्होंने कहा कि हर घर तिरंगा कार्यक्रम हेतु जनपद के समस्त सरकारी अधिकारी कर्मचारी, शिक्षकों, शिक्षामित्रों, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं, आंगनबाड़ी कर्मियों, आशा बहुओं, आदि को पूर्व निर्धारित लक्ष्य दिया जाए उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने झंडारोहण के नियम में संशोधन किया है एवं यह भी कहा कि कपड़ा मशीन से बना हुआ कपड़ा, सूती, पॉलिस्टर, ऊनी, सिल्क आदि हो सकती है ।

उन्होंने कहा कि सभी को यह ध्यान देना होगा कि ऊपर केसरिया बीच में सफेद तथा नीचे हरे रंग का प्रयोग कर बनाए जाएं इसकी विशेष सावधानी रखें। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी, अपर जिला अधिकारी (ढूंढा) सत्यम मिश्रा, जिला विकास अधिकारी राज कुमार त्रिपाठी, जिला पंचायत राज अधिकारी  तुलसीराम, जिला पर्यटन अधिकारी शक्ति सिंह, बेसिक शिक्षा अधिकारी संत राजीव रंजन मिश्र आदि संबंधित अधिकारी उपस्थित थे|