पापा जल्दी आ जाना.....!

मैं लिखती थी चिट्ठियां और

पापा की जेब में रख देती थी,

उसमें मेरी पसंद की गोलियां,

चाकलेट, बिस्किट्स तरह-तरह

के लिख देती और यह भी की

लिखा वो सब लाना जो मुझे

याद नहीं वह भी लाना, पापा,

सेकंड सटरडे  जरुर आना !

खेलखिलौने नये-नये मिठाई

भी लाना और घुमाने ले जाना,

पापा खट्टीमिट्ठी पापिंस और

पिपरमेंट की गोलियां जरूर

लाना पापा जल्दी आ जाना,

पापा अच्छा सा बस्ता, वाटर

बॉटल, शूज, बरसाती लेते आना,

पापा जल्दी आ जाना, मुझे हैं स्कूल

जाना, पापा जल्दी आ जाना...!


            - नेहा ठाकुर " नेह "

             इंदौर , मध्यप्रदेश