तुम अपने बाप से बड़े कभी नहीं हो सकते !

 तुम अपने बाप से बड़े कभी नहीं हो सकते,

तुम अपने आप से बड़े हो सकते हो,

बाप तो बाप ही होता हैं लिहाज रखना पड़ेगा,

ना उम्र में, ना ज्ञान में, ना अनुभव में

कभी ऊंचे नहीं हो सकते हो अपने बाप से,

बाप को प्रेम से बाबा, दादा, बाबूजी, बापूजी

पापा, दायजी, डैडी कहकर इनसे आशीर्वाद

जरूर ले सकते हो मगर इनसे ऊंचे नहीं हो

सकते और इनसे ऊपर नहीं जा सकते, ऐसा

प्रयास भी करोगे तुम तो ये भी तुमसे और

अधिक आगे हो जायेंगे फिर उतनी दूरी ही

रहेगी क्योंकि बाप हमेशा बाप होता है और

बेटा हमेशा बेटा रहता है, बाप ने तुम्हें पैदा

किया, तुमने बाप पैदा नहीं किया, बाप, बाप

ही रहेगा, चाहे तुम बिगड़ों-सुधरों या फिर

सईंसाठ रहो बनकर, फिर भी आगे नहीं जा

सकते अपने बाप से, दूरियां और अंतर वही

रहेगा, रखना पड़ेगा, वह बाप है तुम्हारा....!


- मदन वर्मा  " माणिक "

   इंदौर, मध्यप्रदेश