सस्ता हुआ खाने का तेल, जानिएआगे कीमतों में कटौती होगी या नहीं

नई दिल्ली : पिछले कुछ महीने से खाद्य तेल की कीमतों ने आम आदमी का बजट बिगाड़ कर रखा था। लेकिन अब एक बार फिर कीमतों में गिरावट देखने को मिल रही है। हाल ही में अडानी-विल्मर ने खाद्य तेल की कीमतों में 10 रुपये प्रति लीटर तक की कटौती की है। आइए जानते हैं कि इस तरह की कटौती हमें आगे देखने को मिलेगी या नहीं? 

अडानी विल्मर ने एक लीटर के फाॅर्चयून रिफाइंड सनफ्लावर ऑयल की कीमत 220 रुपये से घटाकर 210 रुपये प्रति लीटर कर दिया है। वहीं, कंपनी की तरफ से शनिवार को जारी बयान में कहा गया था कि एक लीटर के सरसो के तेल की कीमत भी अब 205 रुपये की जगह 195 रुपये ही रहेगी। इसके अलावा हैदराबाद की कंपनी Gemini Edible and Fats ने एक लीटर वाले सनफ्लावर के तेल के पैकेट के दाम को 15 रुपये घटा दिया है। कंपनी आगे भी कीमतों में कटौती कर सकती है। 

केन्द्र सरकार के पाॅम ऑयल पर से इम्पोर्ट ड्यूटी में कटौती के बाद खाद्य तेल की कंपनियों ने अपने पैकेट की कीमतों को घटाया है। कीमतों में कटौती पर कंपनियों का कहना है कि हमें जो फायदा मिल रहा है वह हम ग्राहकों को भी देना चाहते हैं। बता दें, पाॅम ऑयल की आपूर्ति प्रभावित होने की वजह से खाने के तेल की कीमतों में अचानक तेजी देखने को मिली थी। 

हाल ही में यह खबर आई थी कि भारत सरकार इंडोनेशिया को गेंहू उपलब्ध करवाएगा और उसके बदले पाॅम ऑयल वहां से इम्पोर्ट करेगा। हालांकि इसको लेकर दोनों सरकारों की तरफ से कोई आधिकारिक बयान नहीं जारी किया गया है। लेकिन अगर यह डील सफल हुई तो खाने के तेल की कीमतों में आने वाले समय में फिर गिरावट देखने को मिल सकती है।