सड़क दुघर्टना में घायलों को महर्षि बालार्क चिकित्सालय से मिली छुट्टी

सहयोगियों के साथ अपने घरों के लिए ट्रेन से हुए रवाना

बहराइच । नैनिहा मण्डी, थाना-मोतीपुर जनपद बहराइच के पास ट्रैवलर सं. केए 033 एए 7654 एवं ट्रक सं. यूपी 21 सीटी 4120 के बीच रविवार को हुई आमने-सामने की टक्कर के परिणाम स्वरूप महर्षि बालार्क चिकित्सालय में भर्ती 04 घायलों संगमा पत्नी सिद्धरम्पा उम्र लगभग 61 वर्ष, सुजाता पत्नी संतोष उम्र लगभग 34 वर्ष, बेबावथी पत्नी वसाभराज उम्र लगभग 43 वर्ष तथा शीथल पुत्री मनमथ उम्र लगभग 21 वर्ष को चिकित्सकों द्वारा यात्रा हेतु फिट घोषित किये जाने के कारण सीएमएस महर्षि चिकित्सालय, बहराइच द्वारा 31 मई 2022 को उक्त भर्ती चारों घायलों को गन्तव्य स्थल पर ट्रेन द्वारा भेजे जाने की सलाह दी गयी।

उत्तर प्रदेश सरकार एवं कर्नाटक सरकार के मध्य हुई वार्ता एवं मुख्य चिकित्सा अधीक्षक, महर्षि बालार्क चिकित्सालय, बहराइच की रिपोर्ट के आधार पर दुर्घटना में घायल 04 व्यक्तियों तथा उनके 03 सहयोगियों संजूकुमार पुत्र सुभाष उम्र लगभग 36 वर्ष, राजकुमार पुत्र वस्वराज उम्र लगभग 33 वर्ष व जम्बिगा चन्द्रकला पत्नी जग्बिगा शिवकुमार उम्र लगभग 57 वर्ष को जनपद बहराइच से एम्बुलेन्स से रेलवे स्टेशन गोण्डा तक व गोण्डा रेलवे स्टेशन से ट्रेन (द्वितीय श्रेणी ए.सी.) के माध्यम से कर्नाटक प्रदेश में उनके गन्तव्य स्थान पर शासकीय व्यय पर भेजा गया।

महर्षि बालार्क चिकित्सालय बहराइच से भर्ती 04 घायलों एवं उनके 03 सहयोगियों को बहराइच से उनके गन्तव्य तक सकुशल पहुॅचाने हेतु जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र द्वारा आवश्यक सहयोग हेतु उप जिला मजिस्ट्रेट, पयागपुर दिनेश कुमार व नायब तहसीलदार, सदर बहराइच हबीब उर रहमान अंसारी को नामित किया गया है। जिलाधिकारी डॉ दिनेश चन्द्र के कुशल नेतृत्व में आज प्रातः काल लगभग 05ः00 बजे उप जिलाधिकारी सदर सौरभ गंगवार आईएएस, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक एम.एम.एम. त्रिपाठी तथा अन्य नामित अधिकारियों की देख-रेख में घायलों एम्बुलेन्स के माध्यम से गोण्डा भेजा गया। गोण्डा से ट्रेन नम्बर 12589 पर सवार होकर घायल व्यक्ति तथा उनके सहयोगी गृह प्रदेश कर्नाटक के लिए रवाना हो गये। जिलाधिकारी डॉ चन्द्र ने घायलों तथा उनके सहयोगियों के लिए अपने कोटे से सीट आरक्षित किये जाने एवं सहयोग के लिए डीआरएम लखनऊ के प्रति आभार व्यक्त किया।

उल्लेखनीय है कि जनपद के थाना मोतीपुर अन्तर्गत नैनिहा मण्डी के निकट 29 मई को हुई सड़क दुर्घटना में विट्टल पुत्र अम्बारया उम्र लगभग 37 वर्ष, जगदम्बा उर्फ जगदेवी पत्नी छेवनी उम्र लगभग 52 वर्ष, मनमथ पुत्र मरकप्पा उर्फ मारूती उम्र लगभग 36 वर्ष, अनिल पुत्र विजय कुमार उम्र लगभग 30 वर्ष, संतोष पुत्र काशीनाथ उम्र लगभग 32 वर्ष, शशिकला पत्नी राज कुमार उम्र लगभग 38 वर्ष, सरस्वती पत्नी जगन्नाथ उम्र लगभग 47 वर्ष व शिवानी पत्नी अनिल कुमार पुत्री जगन्नाथ उम्र लगभग 25 वर्ष की मृत्यु हो गयी थी तथा 08 घायलों में से 04 घायलों दीपिका पुत्री संतोष उम्र लगभग 13 वर्ष, भूमिका पुत्री संतोष उम्र लगभग 15 वर्ष, इशानवी पुत्री स्व. अनिल कुमार उम्र लगभग 02 वर्ष व संगमा पत्नी विजय कुमार उम्र लगभग 50 वर्ष को मेडिकली फिट घोषित किये जाने के परिणाम स्वरूप घायलों एवं मृतकों के 05 सहयोगियों सूर्यकान्त पुत्र राम शेट्टी तुगावन उम्र लगभग 47 वर्ष, काशीनाम पुत्र शिव राय उम्र लगभग 62 वर्ष, शिव कुमार पुत्र बसप्पा पाटिल उम्र लगभग 51 वर्ष, अशोक कलगोण्डा पुत्र अनप्पा कलगोण्डा उम्र लगभग 48 वर्ष व मल्लिकार्जुन पुत्र श्रीमन्थ उम्र लगभग 31 वर्ष को 29 मई 2022 को ही जिलाधिकारी डॉ0 दिनेश चन्द्र के कुशल नेतृत्व में शासकीय व्यय से वायुयान के माध्यम से पूर्व में ही गन्तव्य स्थल बीदर, कर्नाटक प्रदेश को भेज दिया गया था।