मन के सुख व शान्ति का माध्यम है गो-सेवा: डीएम डॉ. दिनेश चन्द्र

हरे चारे के अत्यन्त उपयोगी है नेपियर ग्रास

बहराइच । गत शुक्रवार को जनपद की कानून एवं शान्ति व्यवस्था के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक केशव कुमार चौधरी के साथ भ्रमणशील रहे जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र ने शुक्रवार की नमाज़ सकुशल सम्पन्न कराने बाद अब अपने सरकारी आवास पहुॅच कर बिस्तर का रूख नहीं किया बल्कि शासकीय आवास में स्थित गौशाला में गऊ माता एवं उनके बछिया/बछड़ों के साथ फुर्सत के कुछ लम्हें बिता कर मन को सुख और शान्ति प्रदान की। 

इस अवसर पर डॉ. चन्द्र ने आमजन से अपील की है कि गौ सेवा के प्रति संवेदनशील रहते हुए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा निराश्रित गोवंश के प्रति किए जा रहे प्रयास को और अधिक सशक्त बनाने के लिए अपने स्तर से भी प्रयास कर शासन व प्रशासन के सहभागी बने।

उल्लेखनीय है कि जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र का गोवंश प्रेम कोई ढकी छुपी बात नहीं है। जिले के गो-आश्रय स्थलों में संरक्षित गोवंशों के लिए भूसा की व्यवस्था हेतु भूसा दान अभियान हो या हरे चारे की व्यवस्था के लिए नेपियर ग्रास को लेकर किया गया अभिनव प्रयोग हो। नेपियर घास डीएम डॉ. चन्द्र द्वारा किया गया प्रयास पूरे शबाब पर है। 

प्रयोग के तौर शासकीय आवास पर बोई गई नेपियर घास की इस वक्त पूरी तरह से लहलहा रही है। जिलाधिकारी ने जनपद के सभी पशुपालकों से अपील की है कि गोवंशों के हरे चारे के लिए नेपियर घास की बोआई करें। इससे जहॉ गोवंशों को पर्याप्त पोषण तो प्राप्त होता ही है वहीं एक बार की बुआई से लगातार 05 वर्षों तक प्रत्येक तीन माह के अन्तराल पर चारे के लिए फसल तैयार हो जाती है।