एनपीए घटने से SBI को रिकॉर्ड 9114 करोड़ का मुनाफा, बैंक ऑफ बड़ौदा को भी फायदा

मुंबई। फंसे कर्ज में गिरावट से एसबीआई का चौथी तिमाही में मुनाफा 41 फीसदी बढ़कर रिकॉर्ड 9,114 करोड़ पहुंच गया। एक साल पहले उसे 6,451 करोड़ का लाभ हुआ था। समेकित आधार पर बैंक का लाभ 9,549 करोड़ रुपये रहा।

इस दौरान सकल एनपीए 4.98 फीसदी से घटकर 3.97 फीसदी रह गया। शुद्ध एनपीए भी 1.5 फीसदी से घटकर 1.02 फीसदी रहा। बैंक ने 7.10  रुपये प्रति शेयर का लाभांश घोषित किया है। 

बैंक ऑफ बड़ौदा को मार्च तिमाही में 1,779 करोड़ का फायदा हुआ है। एक साल पहले इसी अवधि में लाभ 1,047 करोड़ रुपये था। पूरे साल के दौरान बैंक का कुल लाभ बढ़कर 7,272 करोड़ पहुंच गया।

बैंक का लाभ चौथी तिमाही में 8 फीसदी बढ़कर 1,440 करोड़ पहुंच गया। पूरे साल में लाभ 80 फीसदी बढ़कर 5,232 करोड़ पहुंच गया। सकल एनपीए घटकर 11.11 फीसदी रह गया।

खाद्य एवं गैर-खाद्य तेलों सहित वनस्पति तेल का आयात इस साल अप्रैल में 13 फीसदी घटकर 9.12 लाख टन रह गया। अप्रैल, 2021 में यह 10,53,347 टन था।

सॉल्वेंट एक्सट्रैक्टर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एसईए) के शुक्रवार के आंकड़ों के मुताबिक, इस दौरान खाद्य तेलों का आयात पिछले साल अप्रैल के 10,29,912 टन से कम होकर 9,00,085 टन रह गया। गैर-खाद्य तेलों का आयात भी 23,435 टन से घटकर 11,761 टन रह गया। तेल विपणन वर्ष नवंबर से अक्तूबर तक चलता है।