KKR vs LSG Analysis: स्टोइनिस ने उमेश यादव को आउट करके अपनी टीम को दिलाई जीत

आईपीएल 2022 के अपने आखिरी मैच में कोलकाता की टीम को दो रन हार का सामना करना पड़ा। इस हार के साथ ही टूर्नामेंट में कोलकाता का सफर खत्म हो गया। कोलकाता प्लेऑफ की दौड़ से बाहर होने वाली तीसरी टीम बनी है। वहीं, लखनऊ प्लेऑफ में पहुंचने वाली दूसरी टीम है। इस मैच में लखनऊ के लिए कप्तान केएल राहुल और क्विंटन डिकॉक की सलामी जोड़ी ने रिकॉर्ड 210 रन की साझेदारी कर अपनी टीम की जीत तय कर दी थी, लेकिन कोलकाता ने शानदार वापसी कर मैच को रोमांचक बना दिया था। 

इस मैच में दूसरी पारी के 19.4 ओवर तक कोलकाता की जीत तय लग रही थी, लेकिन आखिरी दो गेंदों में मैच पलट गया। एविन लुइस ने शानदार कैच पकड़कर रिंकू सिंह को आउट कर दिया। यहीं से कोलकाता की टीम मैच से बाहर हो गई थी। आखिरी गेंद में कोलकाता को जीत के लिए तीन रन चाहिए थे और स्टोइनिस ने उमेश यादव को आउट करके अपनी टीम को जीत दिला दी। 

मैच के टर्निंग प्वाइंट

अभिजीत तोमर का कैच छोड़नाः इस मैच में राहुल और डिकॉक की जोड़ी ने धीमी शुरुआत की थी। उमेश की गेंद पर डिकॉक ने बड़ा शॉट खेलने का प्रयास किया था और गेंद बल्ले का बाहरी किनारा लेकर थर्ड मैन में अभिजीत तोमर के पास पहुंची थी। वो कैच पकड़ने के लिए गए। उनके दोनों हाथ गेंद पर लगे, लेकिन वो कैच पूरा नहीं कर पाए। यह कैच कोलकाता को बहुत भारी पड़ा और डिकॉक ने इस सीजन का सबसे बड़ा स्कोर बना दिया। उन्होंने राहुल के साथ 210 रन की नाबाद साझेदारी की। कोलकाता के लिए 211 रन का पीछा करना आसान नहीं था। 

कोलकाता के बल्लेबाजों का निडर रवैयाः 211 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए कोलकाता के दोनों सलामी बल्लेबाज तीन ओवर के अंदर नौ रन के स्कोर पर आउट हो गए थे। इसके बाद नीतीश राणा और श्रेयस अय्यर ने ताबड़तोड़ अंदाज में रन बनाकर अपनी टीम की वापसी कराई। बाद में सैम बिलिंग्स, रिंकू सिंह और सुनील नरेन ने भी इसी अंदाज में बल्लेबाजी कर अपनी टीम को जीत की दहलीज पर पहुंचा दिया था, लेकिन आखिरी दो गेंदों में मैच पलट गया। 

लुइस का शानदार कैचः कोलकाता को जीत के लिए आखिरी दो गेंदों में तीन रन की जरूरत थी। इसी ओवर की शुरुआती चार गेंदों में स्टोइनिस 18 रन दे चुके थे। ऐसे में कोलकाता की जीत तय लग रही थी। ओवर की पांचवीं गेंद पर लुइस ने शानदार कैच पकड़कर रिंकू सिंह को आउट कर दिया। इसके साथ ही लखनऊ की टीम मैच में वापस आई। अगली गेंद में स्टोइनिस ने उमेश यादव को क्लीन बोल्ड कर अपनी टीम को दो रन से जीत दिला दी। 

दोनों कप्तानों का प्रदर्शन

इस मैच में दोनों कप्तानों ने बल्ले के साथ शानदार प्रदर्शन किया। पहले लोकेश राहुल ने 51 गेंद में नाबाद 68 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने डिकॉक के साथ 210 रन की नाबाद साझेदारी की। इसके बाद श्रेयस अय्यर ने भी 29 गेंद में 50 रन की पारी खेली। वहीं, फील्डिंग के दौरान राहुल ने अय्यर से बेहतर प्रदर्शन किया। उन्होंने शानदार लय में चल रहे मोहसिन खान का सही इस्तेमाल किया। पहले पावरप्ले में उनसे दो ओवर कराए और उन्हें दो विकेट मिले। इसके बाद अय्यर और बिलिंग्स के जमने के बाद उन्होंने मोहसिन से ओवर कराया, जिसमें कोलकाता को रन नहीं मिले। अगला ओवर उन्होंने स्टोइनिस को दिया और अय्यर बड़ा शॉट खेलने के चक्कर में आउट हो गए। 

कोलकाता के आंद्रे रसेल यह मैच खत्म कर सकते थे। ऐसे में उन्होंने मोहसिन खान और आवेश खान से गेंदबाजी कराकर पहले उन्हें आउट कराया। इसके बाद स्टोइनिस और जेसन होल्डर से आखिरी दो ओवर कराए। अगर राहुल रसेल को पहले नहीं आउट कराते तो कोलकाता की जीत तय थी। जबकि, श्रेयस के पास राहुल और डिकॉक की जोड़ी को तोड़ने का कोई विकल्प नहीं था। 

कोलकाता के लिए कैसा रहा मैच

सकारात्मक पक्षः कप्तान श्रेयस अय्यर, नीतीश राणा, सैम बिलिंग्स, रिंकू सिंह और सुनील नरेन ने बल्ले से अच्छा प्रदर्शन किया। आखिरी दो ओवरों में रिंकू सिंह और सुनील नरेन ने शानदार अंदाज में बल्लेबाजी की। भले ही ये दोनों कोलकाता को जीत नहीं दिला सके, लेकिन दोनों ने 19 गेंदों में 58 रन जोड़े। 

नकारात्मक पक्षः इस मैच में हार के साथ ही कोलकाता का सफर इस सीजन खत्म हो गया। टीम के गेंदबाजों ने बेहद खराब प्रदर्शन किया। आईपीएल इतिहास में पहली बार कोई टीम 20 ओवर की गेंदबाजी के बाद पारी में एक विकेट नहीं ले पाई। टिम साउदी, रसेल और चक्रवर्ती सब महंगे साबित हुए। बल्लेबाजी में वेंकटेश, अभिजीत तोमर आंद्रे रसेल ने निराश किया। रसेल ने इस मैच में 11 गेंद में पांच रन बनाए, जबकि उनसे विस्फोटक बल्लेबाजी की उम्मीद थी। 

लखनऊ के लिए कैसा रहा मैच

सकारात्मक पक्षः कप्तान राहुल और डिकॉक ने शानदार बल्लेबाजी की। पहले विकेट के लिए रिकॉर्ड साझेदारी करते हुए दोनों ने 210 रन जोड़े। प्लेऑफ से पहले दोनों का लय में लौटना लखनऊ के लिए बहुत अच्छे संकेत हैं। वहीं, गेंदबाजी में मोहिसन खान ने कमाल किया। आखिरी ओवर में स्टोइनिस ने लगातार दो गेंदों में दो विकेट लेकर टीम को जीत दिलाई। इससे पहले उन्होंने श्रेयस अय्यर को भी आउट किया था। रवि बिश्नोई ने भी कमाल का प्रदर्शन किया। 

नकारात्मक पक्षः कप्तान राहुल पूरे 20 ओवर खेलने के बाद शतक नहीं लगा सके। उन्होंने 51 गेंद पर 68 रन बनाए। उन्हें अपना स्ट्राइक रेट बेहतर करना होगा। वहीं, गेंदबाजी में आवेश खान, जेसन होल्डर और कृष्णप्पा गौतम ने निराश किया। तीनों गेंदबाजों ने 11 से ज्यादा की इकोनॉमी से रन खर्चे। होल्डर और आवेश को कोई विकेट नहीं मिला। आवेश टीम के प्रमुख गेंदबाज हैं, लेकिन उन्होंने चार ओवर में 60 रन दे दिए। प्लेऑफ में उनका फॉर्म में वापसी करना जरूरी होगा। वहीं, स्टोइनिस ने तीन विकेट जरूर निकाले, लेकिन आखिरी ओवर में उन्होंने लगभग मैच हरा दिया था। लुइस के शानदार कैच की बदौलत लखनऊ ने मैच में वापसी की।