IPL 2022: रिंकू सिंह ने सुनाया अपने संघर्ष के दिनों का किस्सा

आईपीएल की सबसे टीमों में से एक कोलकाता नाइट राइडर्स भी आईपीएल 2022 के प्लेऑफ की रेस से बाहर हो गई है। लेकिन टीम ने टूर्नामेंट में बने रहने के लिए आखिरी मैच तक अपनी लड़ाई जारी रखी। कोलकाता की टीम ने अपने आखिरी मैच में ऐसा प्रदर्शन किया है, जिसे फैंस काफी सालों तक याद रखेंगे। केएल राहुल के नेतृत्व वाली लखनऊ सुपर जाएंट्स के खिलाफ श्रेयस अय्यर, सैम बिलिंग्स, नीतिश राणा की शानदार पारी के बाद रिंकू सिंह ने मैच के आखिरी ओवरों में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी कर मैच को कोलकाता की झोली में लगभग डाल ही दिया था। उन्होंने 15 गेंदों में जबरदस्त 40 रन बनाए। 

अनकैप्ड खिलाड़ी ने अपनी भावनाओँ पर काबू रखते हुए लखनऊ की मजबूत गेंदबाजी आक्रमण के आगे शानदार प्रदर्शन किया। कोलकाता को जीत के लिए आखिरी ओवर में 21 रन चाहिए थे। रिंकू ने पहली चार गेंदों पर 18 रन बटोरकर लखनऊ के डगआउट को हिलाकर रख दिया। लेकिन पांचवीं गेंद पर वह अपना विकेट गंवा बैठे। 

पिछले पांच सालों में रिंकू चोट और अन्य वजहों से टीम से बाहर रहे। उत्तर प्रदेश के क्रिकेटर ने खुलासा किया कि कैसे उनके पिता ने एक बार चोटिल होने के बाद दो से तीन दिनों तक खाना नहीं खाया था। रिंकू सिंह ने एक वीडियो में कहा, ''मैं इतने लंबे समय तक क्रिकेट से दूर रहकर खुश नहीं था। मेरे पिता ने 2-3 दिनों तक नहीं खाया। मैंने उनसे कहा कि यह सिर्फ एक चोट है और यह क्रिकेट का हिस्सा है। मैं अपने घर का एकमात्र कमाने वाला हूं और जब ऐसी चीजें होती हैं, यह चिंताजनक है।''

फ्रेंचाइजी में नियमित सदस्य नहीं रहे रिंकू सिंह ने आईपीएल 2022 में बल्लेबाजी में प्रदर्शन दिखाया और कोलकाता के लिए मध्य क्रम में महत्वपूर्ण पारियां खेली। उन्होंने आगे कहा, ''वे 5 साल मेरे लिए वास्तव में कठिन थे। पहले साल के बाद, जब मुझे केकेआर के लिए चुना गया और मुझे खेलने का मौका मिला, तो मैं अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सका। फिर भी , केकेआर ने मुझ पर बहुत भरोसा किया और उन्होंने मुझे अगले कुछ सीजन के लिए रिटेन किया।"