रोजी रोटी छीनने वाली डबल इंजन की सरकारों को उखाड़ फेकें - रामगोविंद चौधरी

देश में अभूतपूर्व बिजली संकट और बुलडोजर बाबा बोल रहे हैं कि चौबीस घण्टे मिल रही है बिजली - पूर्व नेता प्रतिपक्ष

लखनऊ। सूबे की सियासत में सादगी और ईमान के पर्याय उत्तर प्रदेश के पूर्व नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने देश के मजदूरों और किसानों से अपील की है कि वे रोजी रोटी छीनने और नफरत की राजनीति करने वाली डबल इंजन की सरकारों को उखाड़ फेकें। उन्होंने कहा है कि ऐसा नहीं किया गया तो यह देश भी लंका जैसी स्थिति में पहुँच जाएगा। 

मई दिवस और वरिष्ठ स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, गोवा मुक्ति संग्राम के नेता, समाजवादी चिन्तक मधुलिमये के जन्म दिवस पर आए समाजवादी साथियों को सम्बोधित करते हुए उत्तर प्रदेश के पूर्व नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने कहा है कि आज देश का मजदूर और किसान डबल इंजन की सरकार की कुनीतियों की वजह से त्राहि त्राहि कर रहा है।

 इन दोनों तबकों की आय हर दिन घटती जा रही है और अम्बानी अडानी सहित कुछ लोगों की आय दिन दूना रात चौगुना बढ़ रही है। उन्होंने कहा है कि देश में चल रहीं डबल इंजन की सरकारें इन्हीं कुछ लोगों की अकूत कमाई को विकास के रूप में परोस रही है।  

उत्तर प्रदेश के पूर्व नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने कहा है कि आज केवल रोजी रोटी नहीं, देश का सद्भाव, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और संविधान भी खतरे में है। इनकी रक्षा के लिए देश के सभी मजदूरों और किसानों को एक होना पड़ेगा। इन्हें एक करने की जिम्मेदारी हम समाजवादियों की है। इसके लिए हम लोगों को समाजवादी पार्टी की नीतियों को जन जन तक पहुंचाना होगा। 

उन्होंने कहा है कि डबल इंजन की इन सरकारों का  मतलब केवल समाज में नफरत फैलाना, एक तबके के विरोध में जहर उगलना और दलितों, कमजोरों तथा मजलूमों को सताना रह गया है। कहीं कोई न्याय प्रिय अफसर इसका विरोध कर रहा है तो उसे कुछ लोग सरेआम धमकी देते नजर आ रहे हैं। हम सभी समाजवादी साथियों को इस धमकी और उत्पीड़न के खिलाफ खड़ा होना होगा।

उत्तर प्रदेश के पूर्व नेता प्रतिपक्ष राम गोविन्द चौधरी ने कहा है कि वर्तमान में देश बिजली के अभूतपूर्व संकट से जूझ रहा है और हमारे बुलडोजर बाबा कह रहे हैं कि सूबे में कहीं कोई बिजली संकट नहीं है। चौबीस घण्टे बिजली मिल रही है । आश्चर्य तो यह है कि अन्धे, बहरे और गूंगे लोग इसका ढिढोरा भी पीट रहे हैं कि बिजली मिल रही है। उन्होंने कहा है कि यही स्थिति कानून व्यवस्था की भी है।

 इस बदतर स्थिति से निजात का एक ही रास्ता है, इन सरकारों से छुटकारा। इसके लिए हम सभी को संघर्ष करना होगा। यही मई दिवस के शहीदों को वास्तविक श्रद्धाजंलि है और इसी रास्ते पर चलने से मधुलिमये की भी आत्मा को भी शांति मिलेगी। इस अवसर पर सर्व श्री लाल बचन यादव,श्री राज करन जी,श्री रामाधार जी,श्री राजेन्द्र यादव,श्री राम प्रताप सिंह जी,श्री विंध्यवासिनी जी आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे।