वैज्ञानिकों की टीम ने जय भारत नर्सरी का भ्रमण किया तथा नर्सरी में उत्पादित मधु का सेवन किया

आजमगढ़। आज दिनांक 20 मई 2022 को विश्व मधुमक्खी दिवस के अवसर पर भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद नई दिल्ली के सहायक महानिदेशक डॉ. एस सी दुबे, निदेशक भारतीय कृषि उपयोगी सूक्ष्मजीव ब्यूरो कुशमौर डॉ. हर्षवर्धन सिंह, कृषि महाविद्यालय के अधिष्ठाता व प्रभारी अधिकारी कृषि विज्ञान केन्द्र प्रोफेसर डी के सिंह, वरिष्ठ कृषि वैज्ञानिक डॉ. रुद्र प्रताप सिंह, डॉ. उदयभान आदि वैज्ञानिकों की टीम ने जय भारत नर्सरी का भ्रमण किया तथा नर्सरी में उत्पादित मधु का सेवन किया | 

श्री दुबे ने केन्द्र पर संचालित बायोटेक किसान परियोजना अन्तर्गत स्थापित त्वरित कम्पोस्टिंग इकाई का उद्घाटन भी किया | नर्सरी के माध्यम से किसानों में आधुनिक तकनीक के हस्तांतरण हेतु नर्सरी के मालिक बंश गोपाल सिंह की सराहना की | नर्सरी पर लगाई गई जैविक सब्जी की खेती का भ्रमण भी किया गया |

एक दूसरे कार्यक्रम में मण्डलीय कार्यालय खादी ग्रामोद्योग आयोग गोरखपुर के अन्तर्गत विश्व मधुमक्खी दिवस का आयोजन बैजनाथ मेमोरियल इण्टर कालेज, असौना सठियांव, आजमगढ़ में आयोजित किया गया जिसमें प्रोफेसर डी के सिंह सह अधिष्ठाता एवं प्रभारी अधिकारी  ने मधुमक्खी पालन से फसलों में परागण के महत्व को बताया |

डॉ रुद्र प्रताप सिंह वरिष्ठ कीट वैज्ञानिक कृषि विज्ञान केन्द्र कोटवा आजमगढ़ ने स्वीट क्रांति के अन्तर्गत शहद उत्पादन को बढ़ावा देने हेतु प्रेरित किया | निदेशक खादी ग्रामोद्योग आयोग श्री यशपाल सिंह, सहायक निदेशक श्री मुकेश श्रीवास्तव, ईडीआई अहमदाबाद के प्रतिनिधि प्रदीप सिंह, अजय सिंह, राजेन्द्र प्रसाद के अतिरिक्त बड़ी संख्या में महिलाएं, छात्र व छात्राएं उपस्थित रहीं |