समाज सेवा के हर क्षेत्र में समाजसेवी पीयूष तिवारी पेश कर रहे हैं मिशाल

संवाददाता- अंकित राय 

सुलतानपुर। स्वर्गीय राघव राम तिवारी फाउंडेशन द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में बढ़ावा देने के लिए गरीब बच्चों को शिक्षण सामग्री किया गया वितरित, आपको बताते चलें स्वर्गीय राघव तिवारी फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष का कहना है कि कोई भी व्यक्ति रक्त के अभाव से या भुखमरी से ना मरे यही हमारा मेन उद्देश्य है। समाजसेवी पीयूष तिवारी ने कोरोना काल से ही आम जनमानस की हर संभव मदद करते चले आ रहे हैं और अभी कर रहे हैं। पीयूष तिवारी की जितनी ही प्रशंसा करें उतना ही कम है, क्योंकि आम जनमानस की सेवा करना कोई मामूली सी बात नहीं है। उन्होंने परोपकार की इस मुहिम को अनवरत जारी रखा है।

 इसके साथ ही समाज के गरीबों, जरूरतमंदों के लिए हमेशा तत्पर हैं एवं समय-समय पर भारतीय संस्कृत और समाज की सेवा का कार्य कर रहे हैं। युवा समाजसेवी पीयूष तिवारी का कहना है कि पिछले दो वर्षों से अनवरत समाज के लिए हर एक क्षेत्र में भाग लेते हुए आम जनमानस के सुख दुख में शामिल होकर जनसेवा कर रहा हूं।कन्या भ्रूण हत्या जैसे जघन्य अपराध को रोकना व लावारिस लाशों को धार्मिक रीति रिवाज के साथ अंतिम संस्कार कराने के लिए संकल्प लिया है। 

उनका कहना है कि आज भौतिकता की आंधी और महंगाई ने गरीबों की कमर और भी तोड़कर रख दी है। ऐसे में उनका हाथ हमेशा गरीबों की मदद के लिए आगे रहेगा। सामाजिक सरोकार की कड़ी में जो मेहनत कर रहे हैं। उसे वह मरते दम तक जारी रखेंगे। उन्होंने कहा कि अब वे कन्या भ्रूण हत्या की बढ़ती घटनाओं को रोकने का प्रयास करेंगे। पीयूष तिवारी कहते हैं कि पिताजी के बताए हुए रास्ते पर चल रहे हैं। और जो भी मिला है वह पिता जी के आशीर्वाद से मिला हुआ है। किसी चीज की कोई कमी नहीं है। अमीरों के कई मददगार बन जाते हैं लेकिन गरीबों की सेवा करके जो आत्मिक सुकून मिलता है, उसका वर्णन नहीं किया जा सकता है।