मिशन इंद्रधनुषके तीसरे चरण का आगाज

नियमित टीकाकरण से छूटे दोवर्ष तक के बच्चों और गर्भवती का होगा टीकाकरण

मऊ : नियमित टीकाकरण से छूटे दोवर्ष तक के बच्चों और गर्भवती के टीकाकरण के लिए मिशन इंद्रधनुष 4.0 अभियान (आईएमआई) के तीसरे चरण का शुभारंभ हकीकतपुरा के शिव मंदिर से हुआ। कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ एसएन दूबे ने टीकाकरण सत्र स्थल पर बच्चे को पोलियो का ड्राप पिला कर की |

डॉ दुबे ने बताया कि मिशन इंद्रधनुष अभियान को शुरू करने का उद्देश्य नियमित टीकाकरण से छूटे दोवर्ष तक के बच्चों और गर्भवती का टीकाकरण करना है। सभी अभिभावकों को अपने बच्चों को नियमित टीका करवाते रहना चाहिए। क्षेत्र के सभी लोग इस अभियान में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का पूरा सहयोग करें।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ बीके यादव ने कहा कि टीकाकरण के द्वारा गर्भवती को टिटनेस व वयस्क डिप्थीरिया (टीडी) से तथा दो वर्ष तक की आयु के बच्चों को11 जानलेवा बीमारियों से सुरक्षित रखा जा सकता है ।दोवर्ष तक के बच्चों को मिशन इंद्रधनुष अभियान के तहत टीबी, गलघोंटू, काली खांसी, टिटनेस, पोलियो, खसरा, हेपेटाइटिस बी, डायरिया, दिमागी, बुखार, रूबेला तथा निमोनिया से बचाव के लिए टीके लगाए जाते हैं। इन जानलेवा बीमारियों से बचाव, टीका लगाकर ही किया जा सकता है, इसलिए सभी लोग इसमें सहयोग करें।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी ने बताया कि सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान 4.0 के दूसरे चरण में 1,740 सत्रों के माध्यम से 12,166 बच्चों 2,869 गर्भवती का टीकाकरण किया किया गया था। 12 मई (अवकाश को छोड़) तक चलने वाले इस अभियान में कुल 11,774 बच्चों के साथ 2860 गर्भवती टीकाकरण का लक्ष्य है।

 कार्यक्रम में शहरी स्वास्थ्य मिशन के नोडल स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों के साथ यूनिसेफ के सौरभ सिंह और डब्ल्यूएचओ के डॉ पदम जैन,अर्बन हेल्थ कोऑर्डिनेटर देवेंद्र यादव, कोर ग्रुप के शमशेर अली, अमित सिंह यूएनडीपी से कामाख्या मौर्य, एचईओ विष्णु विजय प्रताप आदि लोग मौजूद रहे।