जल्द ही कमर्शियल उड़ानें शुरू करेगा जेट एयरवेज

नई दिल्ली : जेट एयरवेज के विमान एक बार फिर उड़ान भरने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने जेट एयरवेज को फिर से संचालन शुरू करने के लिए एयर ऑपरेटर सर्टिफिकेट (एओसी) दे दिया है। ऐसे में जल्द ही एयरलाइन कमर्शियल उड़ानों का संचालन एक बार फिर से शुरू करेगी। डीजीसीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। इससे पहले गृह मंत्रालय ने एयरलाइन को सुरक्षा क्लीयरेंस दे दिया था। इसके बाद से ही उम्मीद जताई जा रही थी कि कंपनी जल्द ही अपनी सेवाएं शुरू कर सकती है। 

बीती पांच मई को जेट एयरवेज ने हैदराबाद से दिल्ली के लिए परीक्षण उड़ान भरी थी। यहां बता दें कि ये उड़ान पूरे तीन साल बाद भरी गई थी, क्योंकि 2019 में कंपनी दिवालिया होने के चलते सेवाएं बंद कर दी गईं थीं। आधिकारिक दस्तावेज के मुताबिक, वर्तमान में जेट एयरवेज का प्रमोटर जालान-कोलरॉक संघ है। पहले इसके मालिक नरेश गोयल थे। जेट एयरवेज के विमान ने 17 अप्रैल 2019 को अपनी अंतिम उड़ान भरी थी। 

बता दें कि मुरारी लाल जालान और कालरॉक कंसोर्टियम ने जून 2021 में नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) की निगरानी में हुई दिवाला और समाधान प्रक्रिया में जेट एयरवेज की बोली जीती थी।

विमानन कंपनी विस्तारा ने शुक्रवार को दिल्ली-कोयंबतूर के लिए प्रतिदिन चलने वाली उड़ान सेवा शुरू कर दी है। विमानन कंपनी ने कहा कि वह 27 मई और तीन जून को क्रमश: मुंबई-कोयंबतूर और बंगलूरू-कोयंबतूर के लिए अपनी उड़ान सेवा शुरू करेगी। टाटा समूह और सिंगापुर एयरलाइंस की संयुक्त कंपनी विस्तारा के पास 51 विमान हैं।