निजी स्कूलों की घोर विरोधी है वर्तमान सरकार: अशोक मलिक

सहारनपुर। उ.प्र. मान्यता प्राप्त विद्यालय शिक्षक संघ की एक महत्वपूर्ण चंद्र विहार कालोनी स्थित द ग्रेट सनराइज पब्लिक स्कूल में आयोजित की गयी। बैठक को संबोधित करते हुए शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष डॉ अशोक मलिक ने कहा की वर्तमान सरकार निजी स्कूलों के घोर विरोधी है गत 3 वर्षों से 25ः गरीब दुर्बल वर्ग के निशुल्क बच्चों को निजी स्कूल आरटीई के अंतर्गत निशुल्क पढ़ा रहे हैं लेकिन सरकार ने वादाखिलाफी करके करीब 11 करोड़ रुपए जनपद सहारनपुर और उत्तर प्रदेश का 500 करोड़ उत्तर प्रदेश सरकार पर बकाया है और करीब 1000 करोड़ रूपया कोरोना काल में निजी स्कूल बंद होने से आर्थिक हानि हुई है जिसे सरकार सूखा राहत और बाढ़ राहत की तरह निजी स्कूलों को आर्थिक राहत पैकेज अविलंब जारी किया जाए।

श्री मलिक ने चेतावनी देते हुए कहा की यदि सरकार ने हमारा बकाया पैसा नहीं दिया तो 17 मई को हम गरीब दुर्बल वर्ग के बच्चों को निजी स्कूलों से बाहर कर दे गे और वित्तीय सत्र 2022- 23 के बच्चों को निजी स्कूलों में आरटीई के निशुल्क बच्चों को दाखिला न प्रवेश नहीं देंगे।

जिला अध्यक्ष के पी सिंह व हंस कुमार ने कहा की अभी हाल मे बेसिक शिक्षा विभाग मान्यता प्राप्त विद्यालयों में छापेमारी का नाटक करके अपने  परिषदीय स्कूलों में संख्या बढ़ाने का घिनौनी हरकत कर रहे हैं सरकारी स्कूलों के शिक्षकों को बच्चों को पढ़ाई के लिए प्रतिस्पर्धा करने चाहिए जिससे छात्र छात्राओं का हित हो  निजी स्कूलों को बंद करा कर सरकारी स्कूलों में संख्या बढ़ाने का घिनौना प्रयास है जिसे बर्दाश्त नहीं करेंगे शिक्षा विभाग ने छापामारी और नोटिस जारी करने का ड्रामा बंद नहीं किया तो उग्र आंदोलन कर शिक्षा विभाग की ईंट से ईंट बजा देंगे बैठक को मास्टर अमजद अली एडवोकेट महानगर अध्यक्ष गयूर आलम मास्टर प्रीतम सिंह हंस कुमार कुलदीप कुमार श्रीमती खतीजा तौकीर शबाना सिद्दीकी मैं भी संबोधित किया मुख्य रूप से सुषमा रानी  संदीप सिंह प्रदीप कुमार भूप सिंह जोरा सिंह मास्टर  भोपाल सिंह आदि उपस्थित रहे कुलदीप कुमार जयकुमार राजकुमार संजना मैडम वंदना शालिनी प्रिया मैडम श्रीमती रूबी मैडम सोनाली मीरा देवी संदीप सिंह प्रदीप कुमार भूप सिंह जोरा सिंह मास्टर  भोपाल सिंह आदि उपस्थित रहे।