क्लोज़ सर्किट टीवी कैमरों की निगरानी में रहेगा दरगाह मेला परिसर

बहराइच। सै. सालार मसऊद गाज़ी रह. की दरगाह पर 19 मई से 19 जून 2022 तक एक माह की अवधि तक चलने वाले सालाना जेठ मेले में कानून व शान्ति व्यवस्था बनाये रखने के लिए पूरे मेला क्षेत्र में सीसी टीवी कैमरों के माध्यम से चौकसी रखी जायेगी। इसके अलावा तपती गर्मी के बीच प्रत्येक वर्ष आयोजित होने वाले मेले में आग की घटनाओं पर प्रभावी अंकुश के लिए मेलार्थियों को अपने साथ गैस सिलेण्डर व ज्वलनशील पदार्थ न लाने तथा पूरे मेला परिक्षेत्र को प्लास्टिक की थैली से मुक्त रखने का सुझाव दिया गया। प्रबन्ध समिति को यह भी सुझाव दिया गया कि मेला परिक्षेत्र सहित रोडवेज़, रेलवे स्टेशन इत्यादि स्थानों में स्वयं सेवक की तैनाती कर दें ताकि मेलार्थियों को कोई दिक्कत न हो।

बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र ने प्रबन्ध समिति को निर्देश दिया कि ध्वनि विस्तारक यन्त्रों का प्रयोग मा. सर्वोच्च न्यायालय व शासन द्वारा जारी गाईड लाईन का अनुपालन करते हुए किया जाय साथ ही कोविड-19 के संक्रमण से बचाव हेतु सुरक्षात्मक प्रोटोकाल का भी पालन कराया जाय। प्रबन्न्ध समिति को यह भी निर्देश दिया गया कि जिला प्रशासन के समन्वय से कानून एवं शान्ति व्यवस्था सहित अन्य व्यवस्थाओं के लिए समय से तैयारी पूर्ण कर ली जायें। शुष्क मौसम को देखते हुए मेला क्षेत्र में स्वच्छ पेयजल की पर्याप्त व्यवस्था भी सुनिश्चित करायी जाय। अग्निशमन विभाग को निर्देश दिया गया कि आग की घटनाओं को नगण्य किये जाने के उद्देश्य से पूरे मेला परिक्षेत्र का भ्रमण कर यह सुनिश्चित करें कि सभी हाइडेन्ट चालू हालत में हों। विद्युत विभाग को निर्देशित किया गया कि मेला क्षेत्र में विद्युत का कोई वायर, पोल झूलता हुआ न रहेे, इलेक्ट्रिकल मानकों का परीक्षण फुल प्रूफ व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाय। अधिकारियों को निर्देश दिया गया कि सुरक्षा मानकों का अनुपालन कराते हुए अनुमति/सेफ्टी प्रमाण-पत्र उपलब्ध करायेंगे।  

डीएम डॉ. चन्द्र ने कहा कि मेलार्थियों से ज्यादा मुनाफा वसूली न की जा सके इसके लिए रेट लिस्ट प्रदर्शित किये जाने तथा खाद्य पदार्थों की क्वालिटी चेक करने के लिए खाद्य सुरक्षा अधिकारियों को मेला अवधि में नियमित रूप से सैम्पुलिंग करने का भी निर्देश दिया। मेले से पूर्व फागिंग, मेलार्थियों की पहुॅच के स्थानों पर चिकित्सा शिविर, दरगाह शरीफ के चिकित्सालय को पर्याप्त दवा व चिकित्सकीय सुविधा तथा चौबिसों घण्टे एम्बुलेन्स की व्यवस्था के लिए चिकित्सा विभाग को निर्देशित किया गया। डीएम ने साफ-सफाई के कार्य को विशेष प्राथमिकता प्रदान करने का निर्देश देते हुए नगर पालिका को पूरे मेला परिक्षेत्र से कूड़ा उठान तथा पानी के छिड़काव, मेले की ओर जाने वाले मार्गों पर सोलर लाईट इत्यादि के बेहतर प्रबन्ध किये जाने के निर्देश दिये गये। डीएम ने यह भी निर्देश दिया कि सभी प्रकार के हेल्पलाइन नम्बरों को पूरे मेला परिसर में जगह-जगह प्रदर्शित कर दिया जाय।

सड़क व रेल मार्ग से आने वाले मेलार्थियों के लिए की गयी व्यवस्थाओं पर चर्चा के दौरान डीएम ने सड़क परिवहन निगम व रेलवे के अधिकारियों को निर्देश दिया कि मेलार्थियों की सुविधा के मद्देनज़र बेहतर से बेहतर प्रबन्ध किये जायें। सभी सम्बन्धित अधिकारियों प्रबन्ध समिति के पदाधिकारियों के साथ मेला क्षेत्र का निरीक्षण कर की जाने वाली व्यवस्थाओं का जायज़ा लेकर मेला प्रारम्भ होने से पूर्व ही साफ-सफाई, पेयजल, पार्किंग, प्रकाश एवं आवागमन के मार्गों इत्यादि की आवश्यक मरम्मत का कार्य पूर्ण करा दें। डीपीआरओ को निर्देश दिये गये कि चित्तौरा व अनारकली झील की पर्याप्त साफ-सफाई करा दी जाय।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक केशव कुमार चौधरी ने कहा कि मेला अवधि में गुड पुलिसिंग व्यवस्था के बन्दोबस्त किये जायेंगे। श्री चौधरी ने कहा कि सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से अश्लील कार्यक्रम प्रस्तुत करने की अनुमति नहीं होगी। एसएसपी ने सुझाव दिया कि ऐसे कार्यक्रम किये जायें जिससे लोगों का स्वस्थ मनोरंजन हो और समाज को बेहतर सन्देश मिले। दरगाह प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष सै. शमशाद अहमद एडवोकेट ने प्रबन्ध समिति की ओर से की गयी व्यवस्थाओं के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी उपलब्ध करायी।

 इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी मनोज, अपर पुलिस अधीक्षक नगर कुॅवर ज्ञानंजय सिंह, नगर मजिस्ट्रेट ज्योति राय, उप जिलाधिकारी सदर सौरभ गंगवार आईएएस, जिला पूर्ति अधिकारी अनन्त प्रतात सिंह, अधी.अभि. विद्युत मुकेश बाबू, एसीएमओ डॉ. अजीत चन्द्रा, एआरएम मो. इरफान, पीओ डूडा संजय सिंह व अन्य अधिकारी, दरगाह प्रबन्ध कमेटी के पदाधिकारी अब्दुल रहमान उर्फ बच्चे भारती, दिलशाद अहमद एडवोकेट, अज़मत उल्लाह, मकसूद रायनी, खालिद इकराम व अन्य सदस्य मौजूद रहे।