68500 शिक्षक भर्ती मामला,जिला आवंटन में गड़बड़ी के आरोप पर धरने पर बैठे अभ्यर्थी



लखनऊ। प्रदेश में 68 हजार 500 शिक्षक भर्ती मामला फिर से सुर्खियों में है। आरोप है कि रिजर्व कैटेगरी के शिक्षकों के साथ इस भर्ती प्रक्रिया में अन्याय हुआ है। बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों की इस भर्ती में लगभग 4 साल बाद हाईकोर्ट के आदेश का पालन हुआ। अब आदेश के इम्प्लीमेंटेशन पर सवाल खड़े हो रहे है। आरोप है कि बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा 10 मई को 2 हजार 908 शिक्षकों को जिला आवंटित कर दिया गया पर अभी 400 रिजर्व कैटेगरी के शिक्षकों को जिला आवंटन नहीं किया गया। सोमवार को इसके विरोध में फिर से तेजी दिखी।

 अभ्यर्थी प्रदर्शन करते दिखे। लखनऊ के एमडीएम कार्यालय में करीब 200 शिक्षक 11 मई से लगातार धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। सचिव से वार्ता के अनुसार शनिवार तक लगभग 600 शिक्षकों ने बेसिक शिक्षा निदेशालय प्रयागराज में प्रत्यावेदन किया पर इस पर अभी तक कोई कार्यवाही न करके एमआरसी रिजर्व कैटेगरी के शिक्षको को जिला आवंटित नहीं किया। 

इधर एमडीएम कार्यालय लखनऊ में धरना देने के लिए मजबूर महिला शिक्षिकाएं अपने बच्चों के साथ भीषण गर्मी में प्रदर्शन कर रही। चंदा, वरुणिका सिंह, प्रियंका यादव ,रेशमा समेत बड़ी संख्या में महिलाएं छोटे बच्चों के साथ 45 डिग्री से ज्यादा की गर्मी में धरना दे रही पर कोई सुनवाई नही हो रही।