ई42 ने लॉन्च किया भारत का पहला एआई मार्केटप्लेस

-अनिल बेदाग़-

 मुंबई : नो-कोड एआई एनएलपी प्लेटफॉर्म ई42 ने कंपनी के फ्लैगशिप कार्यक्रम ‘ई42 कॉन्क्लेव 2022’ में भारत के पहले एआई मार्केटप्लेस को लॉन्च करने की घोषणा की। यह कॉन्क्लेव डिजिटल परिवर्तन में एआई की भूमिका पर प्रकाश डालता है। कंपनी ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के माध्यम से उद्यमों को इंटेलिजेंट बनाने की अपनी यात्रा में भी एक दशक पूरा कर लिया है।

   एक नो-कोड प्लेटफॉर्म होने के नाते ई42 अपने पार्टनर नेटवर्क को थर्ड-पार्टी सिस्टम इंटीग्रेशन सहित एक साधारण ड्रैग एंड ड्रॉप इंटरफेस के माध्यम से अपने विशेषज्ञता के क्षेत्र में एआई सहकर्मियों को तैयार करने और उन्हें डिप्लॉय करने की शक्ति देता है। एआई मार्केटप्लेस, ई42 और उनके भागीदारों पर निर्मित सभी क्लिक-टू-हायर एआई श्रमिकों का एक शोकेस है - जो जल्द ही उद्यमों के लिए ब्राउज़ करने और चुनने के लिए उपलब्ध होगा। ई42 एआई मार्केटप्लेस को एक्सेंचर के मैनेजिंग डायरेक्टर अवनीश सभरवाल ने वीडियो कॉल के जरिए लॉन्च किया।

     एआई मार्केटप्लेस की लॉन्चिंग के बारे में जानकारी देते हुए ई42 के को-फाउंडर और सीईओ अनिमेष सैमुअल ने कहा, ‘‘ई42 मार्केटप्लेस को हमारे भागीदारों और ग्राहकों के हितों को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है। सभी एआई कर्मचारियों को सूचीबद्ध करने के लिए यह एक ऐसा सिंगल प्लेटफॉर्म है जिसे हमने और हमारे भागीदारों ने बनाया है जिसे किसी भी उद्यम द्वारा कुछ ही क्लिक में काम पर रखा जा सकता है, जो हमारे बाज़ार को अलग करता है। एआई कर्मचारियों को काम पर रखने के लिए यह अपनी तरह का पहला ‘नौकरी’ या ‘मॉन्स्टर’ है। जैसा कि कई अध्ययनों से पता चलता है कि 2026 तक उद्यम कार्यबल में कम से कम 50 प्रतिषत हिस्सा एआई वर्कर्स का होगा। कुल मिलाकर यह 800 बिलियन डॉलर से अधिक का अवसर है जिसे हम अपने भागीदारों के साथ टार्गेट कर सकते हैं।’’

     ई42 के को-फाउंडर और सीटीओ संजीव मेनन ने कहा, ‘‘ई42 कॉन्क्लेव के पीछे का विचार एआई और डिजिटल परिवर्तन के पहलुओं पर चर्चा करने के लिए विभिन्न कार्यों और कार्यक्षेत्रों के बिजनेस लीडर्स को एक साथ लाना है जो आज के उद्यम के लिए प्रतिस्पर्धा में बने रहने के लिए महत्वपूर्ण हैं।