2014 से पहले की सरकार ने भ्रष्टाचार को प्रशासन का जरूरी हिस्सा मान लिया था: नरेंद्र मोदी

शिमला : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला पहुंचे। वह ऐतिहासिक रिज मैदान पर विशाल जनसभा को संबोधित करने पहुंचे। इस मौके पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मोदी को शाल, टोपी और भीम काली मंदिर सराहन की पेंटिंग भेंट की। इस दौरान उन्होंने केंद्र की जनकल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों से वर्चुअल संवाद किया। केंद्र की एनडीए सरकार के 8 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में राष्ट्रीय स्तर पर रिज मैदान में समारोह का आयोजन किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि 2014 से पहले की सरकार ने भ्रष्टाचार को प्रशासन का जरूरी हिस्सा मान लिया था। उन्होंने दावा किया कि केंद्र में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत सरकार ने भ्रष्टाचार को कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति अपनाई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी सरकार की आठवीं वर्षगांठ के मौके पर यहां रिज मैदान में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि उनकी सरकार ने विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों की सूची में से 9 करोड़ फर्जी नाम हटाए हैं। मोदी ने कहा, ‘प्रधानमंत्री आवास योजना हो या छात्रवृत्ति या कोई अन्य योजना, हमने लोगों को सीधे इसका लाभ पहुंचा भ्रष्टाचार को मिटा दिया है। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ हमने प्रत्यक्ष लाभ अंतरण के माध्यम से विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों के बैंक खातों में 22 लाख करोड़ रुपये से अधिक राशि स्थानांतरित की है।श्कोविड-19 वैश्विक महामारी से निपटने के लिए उनकी सरकार द्वारा किए गए उपायों को रेखांकित करते हुए उन्होंने कहा कि देश में कोविड-19 रोधी टीकों की करीब 200 करोड़ खुराकें दी जा चुकी हैं। उन्होंने रैली में कहा कि भारत ने विभिन्न देशों को कोविड-19 रोधी टीकों का निर्यात किया और हिमाचल प्रदेश की बद्दी औद्योगिक इकाई ने उन खुराकों के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ अब भारत मजबूरी में नहीं बल्कि दूसरों की मदद के लिए दोस्ती का हाथ बढ़ाता है, जैसा कि कई देशों को कोविड-19 रोधी टीके उपलब्ध कराकर किया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि हिमाचल से अगाध प्रेम रखने वाले यशस्वी मोदी सरकार ने हमें बिन मांगे सब दिया। उन्होंने दावा किया कि अब हिमाचल में भी मोदी के नेतृत्व में दोबारा सत्ता वापसी करेंगे। मोदी ने जलजीवन मिशन को लेकर जयराम सरकार की पीठ थपथपायी। राजधानी में आज मौसम साफ रहा और धूप खिली रही। रैली स्थल पर सुबह से लोगों की भारी भीड़ जुटने लगी थी। शिमला और प्रदेश के अन्य जिलों से बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता व आम जनमानस प्रधानमंत्री को सुनने पहुंचे। रैली स्थल को एसपीजी ने अपने नियंत्रण में लिया था। लगभग दो हजार पुलिस जवान तैनात थे। भारी संख्या में लोगों के शिमला आने की वजह से यातायात व्यवस्था में बदलाव किया गया। रैली के पहले प्रधानमंत्री ने माल रोड पर रोड शो किया।