कर्जे की जाल से मुक्ति के लिए चन्द्रशेखर की बातों को जन जन तक पहुंचाएं - रामगोविंद चौधरी

पत्रकार द्विग्विजय सिंह, अजित कुमार ओझा और मनोज गुप्ता रिहा नहीं किए गए तो प्रशासन से होगी सीधी लड़ाई - पूर्व मंत्री उत्तर प्रदेश

लखनऊ। सामाजिक और  राजनीतिक जीवन में ईमान और सादगी के पर्याय उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री पूर्वांचल के गांधी रामगोविन्द चौधरी ने कहा है कि कर्जे की जाल से देश को मुक्त कराने के लिए हम सभी लोगों की जिम्मेदारी है कि हम लोग देश के प्रथम समाजवादी प्रधानमंत्री राष्ट्रपुरुष चन्द्रशेखर की बातों को जन जन तक पहुंचाएं और इसके लिए संघर्ष तेज करें।

मेट्रो सिटी अपार्टमेंट में आज रविवार को देश के प्रथम समाजवादी प्रधानमंत्री राष्ट्रपुरुष  चन्द्रशेखर को श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए  ईमान और सादगी के पर्याय  पूर्व मंत्री रामगोविंद चौधरी ने कहा कि राष्ट्रपुरुष चन्द्रशेखर देश के एक मात्र ऐसे राजनेता हैं जिन्होंने बिना लाग लपेट के अपने जीवन काल में बार बार  कहा कि नई आर्थिक नीति  देश को विदेशी कर्जे की जाल में फंसा देगी। इसकी वजह से हमारी स्थिति उन देशों जैसी हो जाएगी जो दुनियां में दया की नज़र से देखे जाते हैं। उन्होंने कहा कि सरकारों ने उनकी बात नहीं मानी। परिणाम, आज देश की स्थिति किसी से छिपी नहीं है। वर्तमान में हम विकासशील देशों की सूची से बाहर हैं और हमारा रुपया दीन हीन स्थिति में पहुँच गया है।

सामाजिक और राजनीतिक जीवन में सादगी के पर्याय पूर्व मंत्री रामगोविंद चौधरी ने कहा कि देश की डबल इंजन की सरकार के कार्यकाल में एक तरफ आम आदमी हर दिन गरीब होता जा रहा है, उसके ऊपर सरकार की गलत नीतियों की वजह से कर्जे का बोझ बढ़ता जा रहा है तो दूसरी तरफ अम्बानी, अडानी जैसे कुछ लोगों की आमदनी दिन दूना रात चौगुना बढ़ रही है। इस स्थिति को हर हाल में बदलना हम लोगों का कर्तव्य है। हमने इस कर्तव्य का पालन नहीं किया तो आने वाली पीढ़ी हमें माफ नहीं करेगी।

सामाजिक और राजनीतिक जीवन में ईमान और सादगी के पर्याय पूर्व मंत्री पूर्वांचल के गांधी रामगोविंद चौधरी ने कहा कि वर्तमान में देश का सब कुछ इन कुछ लोगों के हाथ में चला जा रहा है। डबल इंजन की सरकार अपने हर पल का उपयोग इन्हीं कुछ लोगों की सेवा के लिए कर रही है। यही स्थिति बनी रही तो देश में आम आदमी की स्थिति लंका जैसी हो जाएगी। उन्होंने कहा कि इसे रोकने के लिए जरूरी है कि हम लोग राष्ट्रपुरुष चन्द्रशेखर के दिखाए रास्ते पर चलकर व्यापक संघर्ष की शुरुआत करें।

सामाजिक और राजनीतिक जीवन में ईमान और सादगी के पर्याय पूर्व मंत्री पूर्वांचल के गांधी रामगोविन्द चौधरी ने पत्रकार द्विग्विजय सिंह, अजित कुमार ओझा और मनोज गुप्ता की गिरफ्तारी के विरोध में बलिया में हुई सफल बंदी के लिए बलिया के पत्रकारों और बलिया की बहादुर जनता की जमकर तारीफ की और कहा कि इस बंदी के बाद भी पत्रकार साथी रिहा नहीं किए गए और दोषी अधिकारियों के खिलाफ करवाई नहीं हुई तो बागी बलिया के ईमान और सुचिता में विश्वास करने वाले सभी लोग सीधी लड़ाई के लिए विवश होंगे।

इस अवसर पर राष्ट्रपुरुष चन्द्रशेखर को श्रद्धासुमन अर्पित करने वालों में समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता  रतनसेन सिंह, पौरुष सिंह, राजेन्द्र यादव, संदीप यादव, राम प्रताप सिंह यादव, डाक्टर रितेश यादव, पवन सिंह, इंद्रजीत यादव, रामाधार यादव और रजत पाण्डे आदि भी शामिल थे।