साहित्य सृजन मे है विकास तथा समरसता के वातावरण को मजबूत बनाने की शक्ति- प्रमोद तिवारी

रामपुर खास के दौरे मे सीडब्ल्यूसी मेंबर तिवारी ने मंहगाई को लेकर मोदी सरकार पर बोला कड़ा हमला

लालगंज, प्रतापगढ़। केन्द्रीय कांग्रेस वर्किग कमेटी के सदस्य एवं यूपी आउटरीच एण्ड को-आर्डिनेशन कमेटी के प्रभारी प्रमोद तिवारी ने क्षेत्र के लकुरी गांव मे वरिष्ठ  साहित्यकार सुरेश अकेला द्वारा रचित स्वतंत्र काव्य कलश पुस्तक का समारोहपूर्वक विमोचन किया। शुक्रवार को यहां आयोजित साहित्यिक परिचर्चा को संबोधित करते हुए श्री तिवारी ने अकेला के द्वारा रचित पुस्तक को गांव के किसान तथा मध्यम वर्ग की वास्तविक स्थिति की पीड़ा का दर्पण कहा। 

उन्होंने कहा कि महानगरीय एवं शहरी साहित्य मे गांव की पीड़ा उधार के अनुभव की हुआ करती है जबकि ग्रामीण क्षेत्र के साहित्य साधना मे यह पीड़ा की अभिव्यक्ति दिल के अनुभव पर सत्यता के प्रतिबिम्ब को उकारा करती है। वहीं प्रमोद तिवारी ने कहा कि साहित्य सृजन मे विकास तथा समरसता के वातावरण को सशक्त बनाये रखने की शक्ति भी हमें ऊर्जा प्रदान किया करती है। उन्होनें साहित्यकार सुरेश अकेला को प्रोत्साहन स्वरूप इक्यावन सौ रूपये नकद व शॉल ओढ़ाकर स्वयं तथा विधायक आराधना मिश्रा मोना की ओर से सम्मानित भी किया। 

कार्यक्रम मे जिपंस लालजी यादव, राकेश चतुर्वेदी, मुन्ना पटेल, ओमप्रकाश यादव, प्रधान रमाकांत द्विवेदी, अजय पाण्डेय, सुरेन्द्र तिवारी, अशोक पाण्डेय, विनोद तिवारी, धीरज सिंह, मनोज यादव, गुडडू पाण्डेय, नागेश नारायण मिश्र, मनोज मिश्र, शिव प्रताप मिश्र, देव नारायण मिश्र, हरिश्चंद्र पटेल, सर्वेश सोनकर, राजेश सरोज आदि ने सह संयोजन किया। वहीं रचनाकार सुरेश अकेला ने स्वरचित कृति का विषय प्रवर्तन रखा।

 इसके पूर्व सीडब्ल्यूसी मेंबर प्रमोद तिवारी पूरे नेवाजीलाल गांव मे हाल ही मे अग्निकांड से प्रभावित परिजनों से मुलाकात की। यहां श्री तिवारी ने स्वयं तथा विधायक मोना की ओर से पीड़ित कल्पनाथ, विन्देश्वरी आदि प्रभावित परिवारों की निजी मदद करते हुए शासकीय सहायता दिलवाये जाने का भी भरोसा दिलाया। वहीं लालगंज मे मीडिया से रूबरू प्रमोद तिवारी ने पिछले सत्रह महीनों मे मंहगाई के उच्च स्तर पर पहुंचने के साथ कीमतो को नियंत्रित करने मे विफलता को लेकर केंद्र की मोदी सरकार को किसानों एवं मध्यम वर्ग के लिए अब तक की सबसे क्रूर सरकार करार दिया है।

 प्रमोद तिवारी ने कहा कि खाद्य मंहगाई और तेल की ऊंची कीमतों के कारण खुदरा मंहगाई दर 6.95 फीसदी पहुंचने को लेकर अब अर्थशास्त्री भी मंहगाई के अधिक व्यापक स्वरूप को लेकर चिंतित हो उठे है किंतु सरकार पूंजीपति मित्रों के हित मे मंहगाई की समस्या पर जरा सा भी आंख नही खोल पा रही है। उन्होनें कहा कि डीजल तथा पेट्रोल की कीमतों मे रिकार्ड बढोत्तरी के बावजूद भी मोदी सरकार ईंधन मे टैक्स कटौती किये जाने के विपक्ष के सुझाव को भी अनसुना किये हुए है। इसके बाद श्री तिवारी ने बाबा घुइसरनाथ धाम में दर्शन पूजन किया। 

श्री तिवारी ने भकरा, देवापुर, अमावां, मंगापुर मे भी लोगों से मुलाकात कर क्षेत्रीय विधायक आराधना मिश्रा मोना द्वारा संचालित विकास योजनाओं को प्रभावी बनाये जाने मे योगदान दिये जाने की बात कही। इस मौके पर प्रतिनिधि भगवती प्रसाद तिवारी, मीडिया प्रभारी ज्ञानप्रकाश शुक्ल, ब्लाक प्रमुख अशोक सिंह, चेयरपर्सन प्रतिनिधि संतोष द्विवेदी, भुवनेश्वर शुक्ल, रघुनाथ सरोज, लल्लन सिंह, रिंकू सिंह परिहार, दृगपाल यादव, पवन शुक्ला, सिंटू मिश्र, ददन सिंह, अजीत सिंह, राजू मिश्र, अरविंद मिश्र, गुडडू सिंह, त्रिभु तिवारी, ओम पाण्डेय, अंशुमान तिवारी आदि रहे।