मित्र

आओ मित्रो साथ चले हम,

पथ की बाधाओं से नहीं डरे हम।

मिलकर जब हम साथ चलेंगे,

मुसीबतों से सदा लड़ेंगे।


यह तो बात सदा से सच ,

एकता में बल होता बड़ा।

जो दुखों में साथ देता सदा,

वही मित्र है सबसे बड़ा।।


संघर्षों को हम जीतेंगे,

किसी के आगे नहीं रुकेंगे।

कर्मवीर हम सब हैं देखो,

मिलकर हम तो विजयी बनेंगे।


मित्रों की तो बात कहे क्या,

मित्रता तो जग में है कायम।

कृष्ण सुदामा की मित्रता देखो,

प्रेम की उनसे महत्ता सीखो।


सही गलत का भान करा दे,

अपनेपन का एहसास करा दे।

बुरी बातों से हमें बचा दे,

सही मार्ग हमें दिखला दे।


बातो का ना रखे छुपाव।

हृदय से निर्मल और हो साफ।

स्वार्थ से वह परे हटे

सच्ची प्रीत हमसे है करें।।


          रचनाकार ✍️

          मधु अरोरा