नो-बॉल न देने के बाद अंपायर नितिन आलोचकों के निशाने पर, स्टेडियम में लगे चीटर-चीटर के नारे

आईपीएल 2022 में शुक्रवार को दिल्ली कैपिटल्स और राजस्थान रॉयल्स (DC vs RR) के बीच खेले गए मुकाबले के दौरान एक हाईवोल्टेज ड्रॉमा देखने को मिला। दिल्ली की पारी के आखिरी ओवर में तीसरी गेंद को नो-बॉल न देने के बाद अंपायर नितिन मेनन आलोचकों के निशाने पर आ गए हैं। स्टेडियम के बाहर के अलावा अंदर बैठे लोग भी अंपायर के इस फैसले की कड़ी आलोचना कर रहे हैं। 

राजस्थान रॉयल्स से मिले 223 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रही दिल्ली को अंतिम ओवर में जीत के लिए 36 रनों की जरूरत थी। इसी बीच, रोवमैन पॉवेल ने मेकॉय की पहली दो गेंदों पर छक्के जड़ मैच में रोमांच भर दिया। तीसरी गेंद मेकॉय यॉर्कर डालना चाहते थे, मगर वह फुल टॉस पड़ गई और पॉवेल ने इस पर भी लंबा छक्का जड़ दिया। यह गेंद कमर के आस-पास थी, मगर लेग अंपायर ने इसे नो बॉल नहीं दिया। इसके बाद ऋषभ पंत समेत दिल्ली कैपिटल्स का पूरा खेमा नो बॉल की मांग करने लगा। जब अंपायर ने उनकी एक ना सुनी तो पंत ने अपना आपा खो दिया और खेल भावना की धज्जियां उड़ते हुए अपने बल्लेबाजों को पवेलियन आने को कहा। 

अंपायर के फैसले से दिल्ली कैपिटल्स का खेमा तो गुस्से में था ही साथ ही स्टेडियम में बैठे दर्शक भी काफी नाराज थे। नो बॉल न दिए जाने के बाद स्टेडियम में बैठे दर्शकों ने अंपायर के खिलाफ नारे लगाने शुरू कर दिए। दर्शकों ने अंपायर के खिलाफ चीटर-चीटर के नारे भी लगाए। सोशल मीडिया पर इसी का वीडियो काफी वायरल हो रहा है। 

विवाद के बाद पॉवेल चौथी गेंद को मिस कर बैठे और पांचवी गेंद पर उन्होंने दो रन लिए। अंतिम गेंद पर वह बड़ा शॉट लगाना चाहते थे मगर वह गेंद को हवा में मार बैठे और संजू सैमसन ने शानदार कैच पकड़ उनकी पारी का अंत करने के साथ-साथ दिल्ली पर जीत दर्ज की।