बीवी चाहिए


मुझे चाहिए बीवी न्यारी,

काम करे वह सारे प्यारी।

रोज सुनाए गीत प्यार के,

मधुरिम वाणी मे मुझे पुकारे।


मेरी बीवी प्यारी प्यारी,

देखे बैठकर टीवी पास।

काम करें झटपट वह आज,

लोगों का स्वागत वह कर दे।


नाक में नथनी कान में बाली,

माथे पर बिंदी है सोहे।

कान में कजरा बाल में गजरा,

मतवाली सी मन को मोहे।


पहने कांजीवरम की साड़ी,

चप्पल पहने हाई हील वाली।

नैन मटक्का करती डोले,

हाय हेलो डार्लिंग बोले।


कन्या मिल जाए इतने गुण वाली,

लक्ष्मी घर आ जाए सारी।

सुबह शाम हम आरती उतारे,

जय जय जय बीवी की उचारे।।


                  रचनाकार ✍️

                  मधु अरोरा