अघोषित कटौतीः चिलचिलाती गर्मी फुल और बत्ती गुल

-लोकल फॉल्ट और लो वोल्टेज के बहाने होती है कटौती

बांदा/बदौसा। शहर मुख्यालय हो सुदूर बदौसा क्षेत्र इस समय अघोषित बिजली कटौती से उपभोक्ता बेहाल है। ज्यादातर गांवों मे लो-वोल्टेज की समस्या ग्रामीणों को रूला रही है। चिलचिलाती गर्मी की मार के चलते लोगो को अपने घर में भी सुकून नहीं मिल रहा है। विद्युत विभाग द्वारा लोकल फाल्ट व लो वोल्टेज के नाम पर बिन बताए बिजली काटी जा रही है। दिन में 10 घंटे से अधिक समय तक की बिजली कटौती झेल रहे ग्रामीण गर्मी से बेहाल है। बिजली की अंधाधुंध कटौती ने आम आदमी की मुसीबत बढ़ा दी है। जिससे क्षेत्र में बिजली विभाग के अधिकारियों के प्रति जनता में गहरा रोष व्याप्त है। हालात यह है कि अघोषित बिजली कटौती के चलते लोगों का जीना मोहाल हो गया है। ग्रामीण क्षेत्रों में बमुश्किल 10-12 घण्टे बिजली लोगों को मिल रही है। आम लोगों की जुबानों से अब यह स्वर निकलने लगे कि सरकार ने अच्छे दिन लाने का वादा किया था, लेकिन वो वादे झूठे साबित हो रहे हैं। कहने को तो सरकार ग्रामीण इलाकों को 18 घंटे बिजली देने की बात कर रही है।उन इलाकों में 10 से 12 घंटे बिजली मिलना भी मुश्किल हो गया है। विद्युत विभाग के अधिकारी व कर्मचारी जनता का फोन भी नहीं उठाते। और शासन के निर्देशानुसार ग्रामीण इलाकों में 18 घंटे विद्युत आपूर्ति के सरकारी आदेश की धज्जियां उड़ा रहे हैं।