देशभर में बिजली की किल्लत चरम पर, जानें हाल

नई दिल्ली। देशभर में बिजली की किल्लत चरम पर पहुंच चुकी है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली, पंजाब और बिहार समेत देश के 16 राज्य इस वक्त ऐसे ही संकट के दौर से गुजर रहे हैं। एक ओर जहां राजस्थान सरकार ने इस किल्लत को राष्ट्रीय आपदा करार दिया है वहीं पंजाब में बिजली कटौती को लेकर किसानों ने राज्य के बिजली मंत्री हरभजन सिंह के अमृतसर स्थित आवास के बाहर प्रदर्शन किया। दरअसल, अभी पावर प्लांट में कोयले की कमी होने की रिपोर्ट मिल रही है। इस बीच केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह ने रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से मुलाकात की थी। उन्होंने पावर प्लांट में कोयले के ट्रांसपोर्ट को बढ़ाने को लेकर चर्चा की थी।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि उनकी सरकार दिल्ली में बिजली की समस्या को किसी तरह सुलझाने में लगी हुई है। मुख्यमंत्री ने देश में इस संकट का हल ढूंढने के लिए ठोस कदम उठाने पर जोर दिया है। उन्होंने कहा कि भारत में बिजली के हालात काफी चिंताजनक हैं। केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, 'देश में बिजली की काफी किल्लत है। अब तक हमने किसी तरह इसे दिल्ली में इसे मैनेज कर लिया है। पूरे देश में हालात चिंताजनक हैं। एक साथ हमें जल्द ही इसका समाधान खोजना होगा। इस परेशानी से निकलने के लिए जल्द ही ठोस कदम उठाने की जरूरत है।'

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बिजली की भारी कमी को राष्ट्रीय आपदा करार दिया है। उन्होंने इस हालात पर शुक्रवार को चिंता प्रकट की । उन्होंने कहा कि बिजली की मांग में बढ़ोतरी तापमान बढ़ने और कोयले की सप्लाई प्रभावित होने के कारण हुई है। उन्होंने कहा, 'यह राष्ट्रीय आपदा है। मैं सबसे एकजुट होने और सरकार की मदद करने की अपील करता हूं ताकि हालात को सुधारा जा सके।