-- तीखा तीर --

ठाडे   हैँ   जमीन  पर 

लखै   स्वर्ग   के   द्वार 

करनी  नरक  की  करी 

ड़ूब  रहे  बीच मझधार 

स्वर्ग-नर्क मिले कर्म से 

चित राखो सदा विचार 

--- वीरेन्द्र तोमर