पाठा भ्रमण कर मुख्य विकास अधिकारी ने जानी जन समस्या

जलसंकट समाधान एवम आजीविका संवर्धन हेतु मुख्य विकास अधिकारी ने किया पाठा भ्रमण

चित्रकूट । गर्मी में बढ़ते जल संकट के समाधान हेतु मुख्य विकास अधिकारी अमित असेरी  ने अखिल भारतीय समाज सेवा संस्थान के निदेशक राष्ट्रदीप व संस्थापक गोपाल भाई के साथ पाठा का भ्रमण किया। भ्रमण के क्रम में बढैया गांव के आदर्श तालाब का अवलोकन किया, संस्थान के विजय ने बताया कि इस तालाब में गत वर्ष सृजन संस्था के सहयोग से इस तालाब की गाद निकाल कर किसानों को उनके खेत में डालने हेतु प्रदान की गई थी।

 बढैया व दराई के किसान संवाद में वहां के किसानों ने बताया कि यहां जलसंकट ऐसी गर्मी में बहुत अधिक बढ़ जाता है परंतु हमारे तालाब में संस्थान के काम के बाद से खेतों को 3 बार पानी की सींच उपलब्ध हो रही है परंतु पेयजल का संकट अभी कम नहीं हो पाया।

 इस पर सीडीओ अमित आसेरी ने कहा कि पेयजल आपूर्ति अधिक से अधिक की जायेगी एवम आने वाले समय में यह संकट खत्म भी हो जायेगा साथ ही सरकार की चल रही योजनाओं के बारे में भी सभी को बताया गया। इस वर्ष गर्मी में प्रशासन द्वारा तालाबों की खुदाई का काम किया जाना है जिससे सिंचाई हेतु पानी की उपलब्धता बढ़ेगी व पीने का पानी भी मिलेगा।

प्राकृतिक कृषि के कार्यों को ग्राम टिकरिया में देखा गया। बहुस्तरीय खेती, 1 एकड़ माडल व मियावाकी माडल को देखा गया, संस्थान के निदेशक राष्ट्रदीप ने बताया कि यह एक प्रयास है आजीविका को बढ़ाने के साथ ही जल, जंगल, जमीन को बनाए रखने का, टिकरिया के किसान रामविश्वास ने बताया कि जब यह बहुस्तरीय खेती उन्होंने शुरू की थी तब उनके अन्य साथियों ने कहा की उपज कम होगी, लेकिन जब परिणाम आया तो अब वो भी इस माडल को अपना रहे हैं। 

संस्थान संस्थापक गोपाल भाई ने कई विषयों के समाधान हेतु सीडीओ से चर्चा की साथ में जिला विकास अधिकारी, जिला समन्वयक मनरेगा, खंड विकास अधिकारी मानिकपुर सहित अन्य अधिकारी भी रहे। संस्थान कि ओर से राजाबुआ, गजेंद्र, अर्चन, विश्वदीप, आशीष कुमार, रामनरेश सहित अन्य सदस्य मौजूद रहे।