नैतिक तथा संस्कार मूल्यों पर आधारित शिक्षा आज की आवश्यकता: बृजेश पाठक

सेंट जोसेफ के 35वें स्थापना दिवस समारोह में चौदह पूर्व छात्र हुये सम्मानित

लखनऊ। राजधानी के प्रसिद्ध सेंट जोसेफ कालेज जिसकी स्थापना विद्यालय की संस्थापक अध्यक्ष पुष्पलता अग्रवाल द्वारा 14 अप्रैल 1987 को की गई थी। इसका 35वॉ स्थापना दिवस विद्यालय की राजाजीपुरम् स्थित शाखा के विशाल प्रांगण में रंगारंग कार्यक्रमों के साथ बड़ी ही धूमधाम और उल्लासपूर्वक मनाया गया। सेंट जोजफ कालेज के 35वें स्थापना दिवस समारोह के मुख्य अतिथि के रूप मेंउप-मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश बृजेश पाठक उपस्थित थे। वही सम्मानित अतिथि के रूप में महापौर लखनऊ संयुक्ता भाटिया व एमएलसी अवनीश कुमार सिंह उपस्थित थे। कार्यक्रम का शुभारम्भ विद्यालय की परम्परानुसार स्वागत गीत व ईश वन्दना श्रीराम चंद्र कृपालु भजमन तत्पश्चात दीप-प्रज्जवलन के साथ विधिपूर्वक हुआ। 

अतिथ्यिों का स्वागत सेंट जोसेफ समूह की संस्थापक अध्यक्ष पुष्पलता अग्रवाल के साथ प्रबन्ध निदेशक अनिल अग्रवाल एवं निदेशक नम्रता अग्रवाल द्वारा किया। किसी भी विद्यालय की पहचान उसके पूर्व छात्रों के द्वारा होती है क्योंकि वह जिस मुकाम पर भी पहुंचते हैं वह निसंदेह विद्यालय की गुणवत्ता परक शिक्षा का ही परिणाम है। इस अवसर पर मुख्य अतिथि ने विद्यालय के उन 14 पूर्व छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया गया जो आज समाज में डाक्टर, इन्जीनियर, चार्टेड एकाउन्टेन्ट, प्रोफेसर, सैन्य अधिकारी, बैंकिंग सेक्टर एवं मल्टीनैशनल कंपनीज में महत्वपूर्ण पदों कार्यरत् होकर देश व समाज की सेवा कर रहे है। 

वह अपने माता-पिता के साथ विद्यालय के नाम का परचम लहरा रहे है। इनमें मुख्य रूप से नम्रता अग्रवाल की पुत्री व 2020 बैच की हेडगर्ल एवं कामर्स संकाय की छात्रा रही सलोनी अग्रवाल का चयन विश्व की सबसे बडी़ एकाउंटिंग कंपनी पी डब्ल्यू सी में समर इंटर्नशिप के लिये हुआ है जो विद्यालय परिवार के लिये गर्व की बात है। सलोनी वर्तमान में यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन में बैचलर बिजनेस स्टडीज की सेकंड ईयर की स्टूडेंट है। इसी के साथ 2018 बैच की अर्पिता शर्मा और शैलजा द्विवेदी ने नीट परीक्षा में स्थान प्राप्त किया। अंकुर पाल और प्रत्यूष पाटवा इन्जीनियरिग कर रहे है तो वही 2003 बैच की दिव्या शर्मा सहायक प्रोफेसर है। 

सत्यम गुप्ता व कोमल अग्रवाल, शशांक गुप्ता चार्टेड एकाउन्टेन्ट बन कर विद्यालय का नाम रोशन कर रहे है। इस अवसर पर उप-मुख्य मंत्री ब्रजेश पाठक ने बच्चों को सम्मानित करते हुये कहा कि बच्चों को अच्छी शिक्षा प्रदान करने के साथ सेंट जोसेफ उनमें नैतिक मूल्यों के साथ संस्कारों का बीजारोपण भी कर रहा है। देश व समाज को अच्छे हीरे जैसे नागरिक प्रदान कर सेंट जोसेफ देश की सेवा ही कर रहा है। उन्होनें विद्यालय प्रबन्धन एवं विद्यालय की संस्थापक अध्यक्ष पुष्पलता अग्रवाल की भूरि-भूरि  सराहना की। अपने संबोधन में संस्थापक अध्यक्ष ने अतिथियों के आगमन के प्रति आभार व्यक्त करते हुये कहा कि दृढ़ इच्छा शक्ति के साथ जीवन में किसी भी लक्ष्य को पाना बेहद आसान होता है।

 रंगारंग कार्यक्रमों की श्रृंखला में बच्चों ने एक से बढ़कर प्रस्तुतियॉ दी। इस अवसर बच्चों ने बुन्देलखण्ड का प्रसिद्ध राई लोक नृत्य, जगमगायेगें जग में, प्यारी जिंदगी प्यारा जहां, सृष्टि के रंग राधा-कृष्ण के संग, नारी सशक्तिकरण जैसी खूबसूरत प्रस्तुतियां दी। ग्रैंड फिनाले लहरा दो....लहरा दो....अपनी बुलंदी का परचम लहरा दो गीत पर कक्षा नौ से बारह तक के छात्रों द्वारा पिरामिड बनाते हुए और संपूर्ण विद्यालय प्रांगण में तिरंगे ध्वज एवं स्कूल की विजय पताका फहरा कर वातावरण को राष्ट्रप्रेम से अभिसिंचित कर दिया और विद्यालय के शिक्षक शिक्षिकाओं के प्रति समर्पण को अभिव्यक्त किया। 

कार्यक्रम को देखकर सभी अभिभावक चकित रह गये। अपने सम्बोधन में महापौर संयुक्ता भाटिया ने कहा कि बच्चों में अनेक प्रतिभाये नैसर्गिक रूप से विद्यमान होती है शिक्षा और शिक्षक उनको निखार कर सामने लाने का कार्य करते है। श्री अवनीश सिंह ने आज के बदलते परिवेश में खेल कूद और वर्तमान युग उपयोगी शिक्षा पर विशेष बल देने की बात कही। स्थापना दिवस समारोह में सेंट जोसेफ की सभी शाखाओं के प्रधानाचार्य, इंचार्ज और शिक्षक शिक्षिकाएं उपस्थित रहे। कार्यक्रम के अन्त में सेंट जोसेफ कॉलेज राजाजीपुरम षाखा की प्रधानाचार्या श्रीमती लीना शर्मा ने आमंत्रित अतिथियों और उपस्थित जन-समूह अभिभावक गणों को उनके आगमन के प्रति धन्यवाद दिया।