गोरखपुर और आगरा में समय से शुरू होगी मेट्रो रेल सेवा: योगी

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में छह महीने के भीतर काम शुरु करने और आगरा में दो साल की समय सीमा में मेट्रो सेवा शुरु करने का निर्देश दिया है। योगी ने मंगलवार को मंत्रिमंडल के समक्ष नगर विकास क्षेत्र से जुड़े 04 विभागों की कार्ययोजना प्रस्तुतिकरण के दौरान जारी दिशा-निर्देशों में कहा है कि प्रदेश के काशी, मेरठ, गोरखपुर, बरेली, झांसी और प्रयागराज शहरों को मेट्रो रेल सेवा से जोड़ा जाना है। 

इसके लिये उन्होंने सभी जरूरी कारर्वाई पूरी करने के निर्देश देते हुए 06 माह के भीतर गोरखपुर मेट्रो लाइट परियोजना का काम शुरु करने को कहा। इसके मद्देनजर उन्होंने काशी, मेरठ, बरेली, झाँसी और प्रयागराज में मेट्रो लाइट अथवा मेट्रो नियो परियोजनाओं के लिए प्री फिजिबिलिटी स्टडी रिपोर्ट के साथ विस्तृत कार्ययोजना रिपोर्ट (डीपीआर) तैयार कराने का निर्देश दिया।  बैठक में चारों विभागों की 100 दिन की कार्ययोजना तय होने के बाद छिमाही और वार्षिक कार्ययोजना का प्रस्तुतिकरण किया गया। 

इस दौरान मुख्यमंत्री ने वर्षों से एक स्थान पर कार्यरत कर्मचारियों और अधिकारियों का स्थानांतरण किये जाने का भी निर्देश दिया, जिससे विकास प्राधिकरणों की कार्यशैली को पारदर्शी बनाया जा सके। उन्होंने कहा कि प्रदेश की कुल जनसंख्या का 24 प्रतिशत, शहरी आबादी है और इसका राज्य की जीडीपी में 65 प्रतिशत योगदान है। स्वस्थ एवं प्रदूषण मुक्त शहर, समावेशी शहर विकास, उच्चस्तरीय आधुनिक नगरीय सुविधाएं और ई-गवर्नेंस के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि नगर नियोजन करते समय भविष्य की जरूरतों और जन आकांक्षाओं का ध्यान भी रखना होगा।  

उन्होंने निर्देश दिया कि हर जनपद या विकास प्राधिकरण में नियोजन का कार्य टॉउन प्लानर प्रोफेशनल से ही कराया जाए। अनियोजित विकास भविष्य के लिए बड़ी समस्या के कारक होते हैं। विकास प्राधिकरण लैंड बैंक विस्तार के लिए ठोस प्रयास करें। नगरीय निकायों को वित्तीय आत्मनिर्भरता के लिए नियोजित प्रयास करना होगा।  योगी ने अगले 02 वर्ष में नजूल एवं अर्बन सीलिंग से सम्बंधित अभिलेखों को डिजिटाइज करने का निर्देश देते हुए कहा कि सभी नगरों का मास्टर प्लान तैयार करायें और नगर निकायों में बिल्डिंग बायलॉज तैयार करायें।